NDTV Khabar

बीजेपी के सभी झूठ सामने आ रहे, देश में कोई गुजरात मॉडल है ही नहीं : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष के तौर पर पहली बार कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता की, मौजूदा राजनीतिक मुद्दों और 2जी स्पेक्ट्रम मामले पर आए फैसले पर चर्चा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी के सभी झूठ सामने आ रहे, देश में कोई गुजरात मॉडल है ही नहीं : राहुल गांधी

कांंग्रेस कार्यसमिति की बैठक में मौजूद सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह.

खास बातें

  1. राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी की पूरी बुनियाद झूठ पर रखी गई है
  2. चुनावी वादे के तौर पर 15 लाख रुपये का झूठ भी सबने देख लिया
  3. पीएम नरेंद्र मोदी आखिर कुछ मुद्दों पर चुप क्‍यों हैं?
नई दिल्ली: राहुल गांधी ने आज पार्टी अध्यक्ष के तौर पर पहली बार कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी की पूरी बुनियाद झूठ पर रखी गई है और अब एक-एक कर झूठ बाहर आ रहे हैं. देश में कोई गुजरात मॉडल है ही नहीं. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि आखिर कुछ मुद्दों पर वे चुप क्‍यों हैं?

राहुल गांधी ने शुक्रवार को पार्टी की कार्यसमिति की बैठक में मौजूदा राजनीतिक मुद्दों, 2जी स्पेक्ट्रम मामले पर गुरुवार को आए फैसले पर चर्चा की.

यह भी पढ़ें : हार की समीक्षा के लिए राहुल गांधी खुद जाएंगे गुजरात और हिमाचल प्रदेश

मीडिया से बातचीत में राहुल गांधी ने बीजेपी के मॉडल को झूठ का मॉडल करार दिया. 2G से लेकर विकास के गुजरात मॉडल को लेकर राहुल ने कहा कि सबका झूठ सामने आ चुका है. यहां तक की चुनावी वादे के तौर पर 15 लाख रुपये का झूठ भी सबने देख लिया.

बैठक में पार्टी की पूर्व अध्यक्ष व राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी और पार्टी के शीर्ष निर्णायक निकाय के सदस्यों ने भाग लिया. कार्यसमिति की बैठक राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के एक सप्ताह के अंदर हुई.
 
rahul gandhi first cwc meeting

राहुल गांधी ने जो तेवर बाहर दिखाए वही तेवर कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में भी दिखाए. कार्यसमिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए राहुल ने मोदी और बीजेपी के मॉडल को झूठ का मॉडल करार दिया. बैठक में इस बात पर खास जोर दिया गया कि किस तरह से प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात चुनाव के आखिरी समय में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व सेना प्रमुख जनरल दीपक कपूर समेत कई गणमान्य शख्सियतों पर ऐसे आक्षेप लगाए जो शोभा नहीं देता.

कार्यसमिति के सदस्यों ने राहुल गांधी से गुजारिश की कि जल्द से जल्द संगठन में और अधिक ऊर्जा और स्फूर्ति लाकर चुनाव की तैयारी की जाए. संदेश साफ था कि युवाओं को ज्यादा से ज्यादा मौके दिए जाएं. बैठक में सोनिया गांधी की सेवाओं को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया गया. इसमें कहा गया कि किस तरह से उन्होंने अपनी काबलियत और मेहनत से कांग्रेस को आगे बढ़ाया. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी के आगे बढ़ने की उम्मीद जताई और शुभकामनाएं दीं.

हाल ही में आए गुजरात चुनाव के फैसले से पार्टी को कुछ सफलता मिली है. पार्टी ने गुजरात में प्रधानमंत्री और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के गृहराज्य में भाजपा को कड़ी चुनौती दी. कांग्रेस अपने कुछ वरिष्ठ नेताओं के हारने और शहरी क्षेत्रों में ज्यादा मत हासिल नहीं करने की वजह से हारी. पार्टी ने हालांकि हिमाचल प्रदेश में भी अपनी सत्ता गंवा दी.

VIDEO : पीएम की साख पर सवाल

टिप्पणियां


राहुल गांधी को अगले वर्ष कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के रूप में अगली चुनौती का सामना करना है. कांग्रेस यहां सत्तारूढ़ पार्टी है. पार्टी मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी सत्ता हासिल करना चाहती है. राहुल गांधी आने वाले समय में चुनावों में बेहतर परिणाम हासिल करने के लिए कुछ संगठनात्मक बदलाव कर सकते हैं. मेघालय, नागालैंड और त्रिपुरा में भी अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement