NDTV Khabar

Odd-Even की वापसी- दीवाली बाद तैयार रहें दिल्‍ली वाले, सीएम केजरीवाल ने 7 प्‍वाइंट में बताया प्रदूषण रोकने का प्‍लान

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind kejriwal) ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि प्रदूषण रोकने के लिए 4 नवंबर से 15 नवंबर तक दिल्ली में ऑड-ईवन (Odd Even) लगाया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि प्रदूषण रोकने के लिए 4 नवंबर से 15 नवंबर तक दिल्ली में ऑड-ईवन (Odd Even) लगाया जाएगा. इसके अलावा दीवाली के दौरान पटाखें न चलाने के लिए भी अनुरोध किया है. दिल्ली सरकार N-95 मास्क खरीदकर लोगों में बांटेगी, जिससे लोग प्रदूषण से बच सकें. अभी 50-60 लाख मास्क खरीदने की योजना है. सीएम केजरीवाल ने आगे बताया कि छोटी दीवाली के दिन लेज़र शो कराएगी, जिसमें फ्री एंट्री होगी. दिल्ली सरकार प्रदूषण के रोकथाम के लिए अन्य साधन भी अपनाएगी.

हमें अपनी प्राथमिकताओं में 'शिक्षा' को शामिल करना होगा : NDTV से बोले मनीष सिसोदिया

ऑड ईवन (Odd Even) योजना के अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, ''उड़ती धूल के लिए जगह-जगह पानी का छिड़काव करेंगे और MCD के साथ मिलकर मैकेनाइज्ड स्वीपिंग (मशीन से झाड़ू लगाना) करेंगे. दिल्ली में 12 स्पॉट पर प्रदूषण ज़्यादा है, इनके लिए अलग प्लान बनाएंगे जिससे पॉल्युशन कम हो सके. कोई कूड़ा या पत्ती न जलाएं इसके लिए हर वार्ड में दो मार्शल नियुक्त करेंगे.'' 


उन्होंने आगे बताया कि दिल्ली में लोगों को पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे. सरकार आपके घर सप्लाई करेगी. इसको ट्री चैलेंज नाम दिया गया है. इसके अलावा एक वॉर रूम बना रहे हैं जिससे प्रदूषण की शिकायत से निपटेंगे. स्कूली बच्चों में जागरूकता फैलाएंगे, इससे बच्चों के माता-पिता को जागरुक करेंगे. ऑड-ईवन और दीवाली के अलावा बाकी सारे पॉइंट विंटर एक्शन प्लान की तरह होंगे.

टिप्पणियां

शबाना आज़मी के घर डेंगू की जाँच के लिए पहुँचे बीएमसी के अफ़सर, दी ऐसी जानकारी हैरान रह गईं एक्ट्रेस

अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ''दिल्ली में अगले 8-10 महीने में 4,000 बसें आ जाएंगी. बस एग्रीगेटर पालिसी जल्द अनाउंस करेंगे, जिससे लोग अपनी गाड़ी छोड़कर लक्ज़री बस में सफर करेंगे. बसों का रूट रैश्लाइजेशन करेंगे, जो अगले 2-3 साल में लागू होगा. लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए इलेक्ट्रिक वाहन होंगे. बस की आवाजाही के लिए ऐप होंगी. एलेक्ट्रिक व्हीकल पालिसी जल्द नोटिफाई होने वाली हैं.''



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement