पुलवामा हमले के बाद अब जम्मू-कश्मीर के रजौरी में IED ब्लास्ट, एक मेजर शहीद

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले की आग अभी बुझी भी नहीं कि रजौरी में एक और आईडी ब्लास्ट की खबर आई है. बताया जा रहा है कि रजौरी में हुए इस ब्लास्ट में एक सेना के अधिकारी शहीद हो गए हैं. 

खास बातें

  • रजौरी में आईडी ब्लास्ट में सेना के एक अफसर शहीद.
  • पुलवामा हमले के बाद एक बार फिर से ब्लास्ट.
  • एक जवान के घायल होने की भी खबर है.
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले की आग अभी बुझी भी नहीं कि रजौरी में एक और आईडी ब्लास्ट की खबर आई है. बताया जा रहा है कि रजौरी में एक आईडी ब्लास्ट हुआ है, जिसमें सेना के एक अधिकारी शहीद हो गए हैं. इस हमले के पीछे का कारण अभी पता नहीं चल पाया है. बताया जा रहा है कि आईडी को प्लांट किया गया था, जिसे डिफ्यूज करने के दौरान अफसर शहीद हो गए. वहीं समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, एक जवान घायल हो गया है. हालांकि, सेना की ओर से अभी तक कोई औपचरिक सूचना नहीं आई है.

Pulwama Attack: शहीद जवान की बेटी बोली- चाहे फिर करना पड़े 'सर्जिकल स्ट्राइक', नहीं बचने चाहिए दोषी

दरअसल, आतंकियों द्वारा लगाए गए आईईडी विस्‍फोटक को निष्‍क्रिय करते वक्‍त सेना के मेजर रैंक के अधिकारी शहीद हो गए. अधिकारी सेना के इंजीनियरिंग कॉर्प्स में कार्यरत थे. नौशेरा सेक्‍टर में नियंत्रण रेखा के 1.5 किलोमीटर आईईडी को प्‍लांट किया गया था. दरअसल, रजौड़ी की यह घटना पुलवामा आतंकी हमले के महज 48 घंटों के भीतर आई है, जिसमें 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए थे. 

Pulwama Terror Attack Live Updates: श्रद्धांजलि देने का दौर जारी, शहीद अमर रहे के नारों से गूंजा पूरा देश

दरअसल, इस घटना को लेकर पहले ऐसी सूचना मिली थी कि इस घटना के पीछे  पाकिस्तानी बैट का हाथ हो सकता है. बता दें कि पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम यानी कि बैट ऐसी टीम है जिसमें पाक सेना और आतंकी दोनों होते हैं. इनका काम मौका मिलते ही एलओसी पर भारतीय सेना के जवानों पर घात लगाकर हमला करना होता है. सीमा पर जितने भी जवानों के शव के साथ छेड़छाड़ हुई है उसके पीछे बैट का ही हाथ होता है.

नवजोत सिंह सिद्धू का कपिल शर्मा के शो से जाना पहले से था तय! Video से हुआ खुलासा, पुलवामा हमले पर बयान नहीं वजह?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले गुरुवार को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था. इस काफिले में करीब 78 गाड़ियां थीं और 2500 जवान शामिल थे. उसी दौरान बाईं ओर से ओवरटेक कर विस्फोटक से लदी एक कार आई और उसने सीआरपीएफ की बस में टक्कर मार दी. आतंकवादी ने जिस कार से टक्कर मारी थी, उसमें करीब 60 किलो विस्फोटक थे. इसकी वजह से विस्फोट इतना घातक हुआ कि इसमें 40 जवान शहीद हो गए. इस घटना पर पीएम मोदी ने सीधे तौर पर कहा है कि आतंकी बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं और अब उन्हें इसका अंजाम भी भुगतना होगा. 

Video: पुलवामा आतंकी हमले पर पीएम मोदी ने कहा 'मुंहतोड़ जवाब मिलेगा'