NDTV Khabar

क्या 2001 में संसद पर हुए हमले में भी थी दविंदर सिंह की भूमिका? जम्मू कश्मीर पुलिस कर सकती है जांच

जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि साल 2001 में संसद पर हुए हमले में दविंदर सिंह की कोई भूमिका थी या नहीं यह भी जांच का हिस्सा हो सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. NIA को सौंपी गई दविंदर सिंह मामले की जांच
  2. संसद हमले में भूमिका की भी हो सकती है जांच
  3. हिजबुल आतंकियों के साथ हुई थी गिरफ्तारी
नई दिल्ली:

हिजबुल आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए जम्मू कश्मीर (Jammu kashmir) पुलिस के डीएसपी दविंदर सिंह (Davinder Singh ) से पूछताछ जारी है. इस बीच जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि साल 2001 में संसद पर हुए हमले में दविंदर सिंह की कोई भूमिका थी या नहीं यह भी जांच का हिस्सा हो सकता है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए को मामले की जांच का जिम्मा सौंप दिया गया है. बता दें कि बीते शनिवार को जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादियों के साथ एक कार में पुलिस उपाधीक्षक (DSP) दविंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया था.

देविंदर सिंह को वीरता पदक से पुरस्कृत करने की खबर सही नहीं: जम्मू कश्मीर पुलिस


इस बारे में पूछे जाने पर कि क्या दविंदर सिंह की संसद हमले में संभावित भूमिका की जांच की जा रही है? जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा, 'सभी पहलुओं की जांच की जा रही है, किसी भी संभावित पहलुओं को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा. हम किसी भी ऐसे शख्स को नहीं छोड़ने वाले जो गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल रहा हो.

जम्मू-कश्मीर पुलिस का अधिकारी हिजबुल के आतंकियों के साथ पकड़ा गया, कार से आ रहा था दिल्ली

2013 में दविंदर सिंह तब चर्चा में आया था जब संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु द्वारा लिखी गई एक चिट्ठी, जिसमें दावा किया गया था अधिकारी ने उसे संसद हमले के एक आरोपी को साथ दिल्‍ली ले जाने और उसके रहने की व्‍यवस्‍था करने को कहा था. 

'आतंकियों को घर में भी दी थी पनाह'
इस पहले सूत्रों ने सोमवार को बताया था कि दविंदर सिंह ने आतंकियों को अपने घर में भी पनाह दी थी. दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद उनके घर पर मारे गए छापे के बाद ये जानकारी सामने आई थी. सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान एक एके राइफल और दो पिस्टल भी बरामद की गई.

टिप्पणियां

हिजबुल आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP के साथ आतंकी जैसा ही सलूक: जम्मू कश्मीर पुलिस

बता दें कि जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर जब देविंदर सिंह को पकड़ा गया था तब वो हिजबुल आतंकियों को कश्मीर से बाहर ले जा रहा था. जांच से यह भी पता चला कि तीनों आतंकी श्रीनगर के बादामी बाग स्थित हाई सिक्योरिटी जोन में दविंदर सिंह के घर पर भी उनके साथ रुके थे. सूत्रों ने बताया कि दविंदर सिंह ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां से आतंकियों को अपने घर तक लाया और उनलोगों ने वहीं रात बिताई. शीर्ष हिजबुल कमांडर नवीद बाबू और उसके दो साथी इरफान और रफी ने सेना के 15 कोर मुख्यालय के ठीक बगल के घर में रात बिताई. सूत्रों ने बताया कि वे शनिवार सुबह जम्मू के लिए निकले, जहां से वे दिल्ली जाने की योजना बना रहे थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... बेटी की शादी कराने के बाद सास को हुआ दामाद से प्यार, एक साल बाद ही दिया बच्चे को जन्म

Advertisement