NDTV Khabar

पेन से लेकर घड़ियों तक, इन महंगे ब्रांड्स के शौकीन थे अरुण जेटली

कुर्ता पायजामा और जैकेट के साथ जेटली की राजनीतिक छवि अक्सर अखबारों और टीवी पर सुर्खियों में रहती थी लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि राजनीतिक रंग में रंगने से पहले पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली महंगे ब्रांडस के शौकीन थे,

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेन से लेकर घड़ियों तक, इन महंगे ब्रांड्स के शौकीन थे अरुण जेटली

पूर्व वित्त मंत्री घड़ियों, कलमों, शॉल, शर्ट का खासा शौक रखते थे

नई दिल्ली:

कुर्ता पायजामा और जैकेट के साथ जेटली की राजनीतिक छवि अक्सर अखबारों और टीवी पर सुर्खियों में रहती थी लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि राजनीतिक रंग में रंगने से पहले पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली महंगे ब्रांडस के शौकीन थे, फिर चाहे वो लंदन की बेस्पोक शर्ट हो या फिर जॉन लॉब द्वारा हस्तनिर्मित जूते हों. जेटली को मॉन्ट ब्लांक पेन और पटेक फिलिप ब्रांड की घड़ी भी खासी पसंद थी. पूर्व केंद्रीय मंत्री का शनिवार को यहां 66 वर्ष की उम्र में एम्स में निधन हो गया. वह नौ अगस्त से यहां भर्ती थे. 

अरुण जेटली के निधन पर भावुक हुए धर्मेंद्र, कहा- छोटे भाई तुम्हारी बहुत याद आएगी...

पूर्व वित्त मंत्री घड़ियों, कलमों, शॉल, शर्ट और यहां तक की जूतों का भी शौक रखते थे और उनके कलेक्शन में 'पटेक फिलिप (घड़ियों में) से मॉन्ट ब्लांक (कलमों में' तक शामिल हैं. लेखक-पत्रकार कुमकुम चड्ढा ने अपनी किताब 'द मैरीगोल्ड स्टोरी' के 'अरुण जेटली: द पाइड पाइप' टाइटल वाले एक अध्याय में कहा है, ''...अरुण की मॉन्ट ब्लांक कलमों और उत्कृष्ट ‘जामावार' शॉल के कलेक्शन के जिक्र की जरूरत है. वह मॉन्ट ब्लांक की नयी कलमों के लॉन्च होने के साथ ही उन्हें खरीदने वालों में से थे.'    


पत्रकार परिसर के मुन्ना टेलर को नया जीवन दे गए जेटली

टिप्पणियां

किताब में जेटली के एक करीबी मित्र को उद्धृत किया गया है जो स्वीकार करते हैं कि 'तड़क-भड़क से सादगीपूर्ण' झुकाव के बावजूद वकील से राजनेता बने जेटली 'ब्रांड को लेकर सजग' बने रहे. उन्होंने लिखा, 'यद्यपि अरुण जेटली ने अपने पहनावे में काफी बदलाव कर लिया है लेकिन ब्रांड को लेकर वो अब भी सजग हैं. उन्होंने अपने बेटे रोहन के लिये जूतों की जो पहली जोड़ी खरीदी थी वह सल्वाटोर फैरागामो (प्रसिद्ध इतालवी लग्जरी ब्रांड) की थी.'    

Video: अरुण जेटली के साथ चलते-चलते (Aired: January 2015)



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement