पुलवामा आतंकी हमले पर ओवैसी की दो टूक: पाकिस्तान के PM अपने चेहरे से मासूमियत का नकाब उतारें

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पाकिस्तान को दो टूक जवाब दिया है और मासूमियत का नकाब निकाल फेंकने को कहा है.

पुलवामा आतंकी हमले पर ओवैसी की दो टूक: पाकिस्तान के PM अपने चेहरे से मासूमियत का नकाब उतारें

असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पाकिस्तान को दो टूक जवाब दिया है और मासूमियत का नकाब निकाल फेंकने को कहा है. पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हुए ओवैसी ने कहा कि इस हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ है. इस हमले का संबंध पाकिस्तान से है. पाकिस्तानी सरकार, पाकिस्तानी सेना और आईएसआई की योजना के अनुसार इस हमले को अंजाम दिया गया. बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है.

पीएम मोदी ने कहा- हम कश्मीरियों के खिलाफ नहीं, तो उमर अब्दुल्ला बोले- थैंक यू साहिब, मन की बात कह दी

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि 'इस हमले का लिंक पाकिस्तान से है. पाकिस्तानी सरकार, पाकिस्तानी सेना और आईएसआई की योजना के अनुसार इस हमले को अंजाम दिया गया. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने हमारे 40 जवानों की हत्या की है और उसकी जिम्मेदारी ली है, वे जैश-ए-मोहम्मद नहीं जैश-ए-शैतान हैं.'

हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं : पीएम नरेंद्र मोदी

उन्होंने आगे कहा कि 'मोहम्मद का सैनिक किसी व्यक्ति की हत्या नहीं करता, वह मानवता के प्रति दयालु है. तुम जैश-ए-शैतान, जैश-ए-इबलीस हैं. मजूद अजहर, तुम मौलाना नहीं हैं, तुम शैतान के शिष्य हो. यह लश्कर-ए-तैयबा नहीं है, यह लश्कर-ए-शैतान है.'

ओवैसी ने कहा कि 'हम पाकिस्तान के पीएम को बताना चाहेंगे कि वे टीवी के सामने बैठकर भारत को संदेश न दे, जो वे चाहते हैं. आपने इसे शुरू किया, यह पहला हमला नहीं था. पठानकोट, उरी और अब पुलवामा. हम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को कहना चाहते हैं अब आप अपने चेहरे से मासूमियत का नकाब निकाल दो.'

दरअसल, 14 फरवरी को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था. इस काफिले में करीब 78 गाड़ियां थीं और 2500 जवान शामिल थे. उसी दौरान बाईं ओर से ओवरटेक कर विस्फोटक से लदी एक कार आई और उसने सीआरपीएफ की बस में टक्कर मार दी. आतंकवादी ने जिस कार से टक्कर मारी थी, उसमें करीब 60 किलो विस्फोटक थे. इसकी वजह से विस्फोट इतना घातक हुआ कि इसमें 40 जवान शहीद हो गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- पुलवामा आतंकी हमला: 'मुंहतोड़ जवाब मिलेगा'