NDTV Khabar

अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त मध्यस्थता टीम के अध्यक्ष जस्टिस खलीफुल्ला की पहली प्रतिक्रिया

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश एफ.एम.आई. कलीफुल्ला को अयोध्या विवाद की मध्यस्थता के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त समिति का अध्यक्ष बनाया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त मध्यस्थता टीम के अध्यक्ष जस्टिस खलीफुल्ला की पहली प्रतिक्रिया

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

अयोध्या में रामजन्मभूमि जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता को मंजूरी दे दी और इसके लिए तीन मध्यस्थों का नाम तय कर दिया. सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश एफ.एम.आई. कलीफुल्ला को अयोध्या विवाद की मध्यस्थता के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त समिति का अध्यक्ष बनाया गया है. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि मुद्दे को सौहार्दपूर्वक सुलझाने के लिए समिति अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेगी. कलीफुल्ला ने कहा, "मैं इस समय बस इतना कह सकता हूं कि यदि सर्वोच्च न्यायालय ने समिति गठित की है तो हम विवाद को सौहार्दपूर्वक सुलझाने की हर कोशिश करेंगे."

अयोध्या विवाद : मध्यस्थता समिति में श्री श्री रविशंकर, असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाते हुए याद दिलाया एक पुराना बयान

इस समिति में आर्ट ऑफ लीविंग के श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पंचू के अलावा कलीफुल्ला शामिल हैं. समिति को यह अधिकार दिया गया है कि वह जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त सदस्यों को शामिल कर सकती है. समिति का सदस्य नियुक्त किए जाने के बाद श्री श्री ने कहा, "हर किसी का सम्मान करने, सपनों को साकार करने, लंबे समय से लंबित विवाद को खुशी-खुशी समाप्त करने और समाज में सदभाव बनाए रखने के लिए हम सभी इन लक्ष्यों की ओर एकसाथ आगे बढ़े."


Ayodhya Case: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बोले श्री श्री रविशंकर- मध्यस्थता ही एक मात्र विकल्प, देश के लिए अच्छा होगा

टिप्पणियां

इससे पहले तीन मध्यस्थों में से एक श्री श्री रविशंकर ने कहा था कि उन्हें सबका सम्मान करते हुए समाज में समरसता कायम करने के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ना है. उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में ट्वीट किया. उन्होंने लिखा- सबका सम्मान करना, सपनों को साकार करना, सदियों के संघर्ष का सुखांत करना और समाज में समरसता बनाए रखना- इस लक्ष्य की ओर सबको चलना है. (इनपुट भाषा से)

VIDEO: अयोध्या केस में जानिए क्यों होगा मध्यस्थता से फैसला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement