तेजस्वी यादव की सुशील मोदी को खुली चुनौती- कोई एजेंसी बची हो तो उससे भी करा लें जांच

तेजस्वी का ये बयान निश्चित रूप से राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं और उम्मीदवारों को ध्यान में रखकर दिया गया है. राजद को पहले से ही आभास था कि बिहार चुनावों में एनडीए तेजस्वी की संपत्ति के मामले को मुख्य मुद्दा बनाएगा.

तेजस्वी यादव की सुशील मोदी को खुली चुनौती- कोई एजेंसी बची हो तो उससे भी करा लें जांच

उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा राघोपुर से नामांकन के समय दायर शपथ-पत्र में कई तथ्यों को छिपाने का आरोप लगाया है.

पटना:

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अपने ऊपर उप मुख्य मंत्री सुशील मोदी द्वारा लगाए गए आरोपों पर कहा कि हम मुद्दों की बात करते हैं और वो मुद्दों से भटकाने की बात करते हैं. तेजस्वी ने सुशील कुमार मोदी को चुनौती दी कि अगर कोई एजेंसी उनके पास बची है तो वो उससे उनके खिलाफ जांच करवा लें. तेजस्वी ने कहा कि ऐसी कोई केंद्रीय एजेन्सी नहीं बची है जो उनके खिलाफ जांच नहीं कर रही है. 

तेजस्वी का ये बयान निश्चित रूप से राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं और उम्मीदवारों को ध्यान में रखकर दिया गया है. राजद को पहले से ही आभास था कि बिहार चुनावों में एनडीए तेजस्वी की संपत्ति के मामले को मुख्य मुद्दा बनाएगा. हालाँकि, महागठबंधन के अन्य घटक दलों ने गुरुवार (15 अक्टूबर) की शाम को ही साफ कर दिया था कि सुशील मोदी द्वारा लगाए गए आरोप राजनीति से प्रेरित हैं और चुनावों के देखते हुए लगाए गए हैं. ताकि तेजस्वी के खिलाफ हवा बनाई जा सके.

बिहार चुनाव : नेताओं को माला पहनाने की मची होड़, JDU नेता चंद्रिका राय का मंच गिरा, कई जख्मी, देखें VIDEO

उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा राघोपुर से नामांकन के समय दायर शपथ-पत्र में कई तथ्यों को छिपाने का आरोप लगाया था और एक सवाल पूछा था कि आख़िर उनके पास एक कंपनी को 4 करोड़ रुपये लोन देने के लिए कहाँ से आए? सुशील मोदी ने कहा कि तेजस्वी ने अपने शपथ पत्र में 4.10 करोड़ रुपये का कर्ज़ एक कंपनी को देने की बात शपथ पत्र में कही है. मोदी ने पूछा कि डेढ़ लाख आमदनी बताने वाले तेजस्वी के पास 4 करोड़ रुपये कर्ज़ देने के लिए कहाँ से आए?

बीजेपी के बिहार चुनाव के गाने 'बिहार में ई बा' पर अनुभव सिन्हा ने जताई आपत्ति

Newsbeep

बता दें कि सुशील मोदी ने पहले भी टिकट के बदले कई नेताओं से तेजस्वी और उनके माता पिता द्वारा पैसा लेने या जमीन लिखवाने का आरोप लगाया था. मोदी ने आरोप लगाया था कि लालू परिवार ने पहले भी तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव के नाम कई नेताओं से जमीनें लिखवाई हैं.

वीडियो: बिहार का दंगल: विधानसभा चुनाव में वीडियो वॉर तेज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com