बिहार चुनाव : महिलाएं मतदान में लगातार पुरुषों को पछाड़ रहीं, चार चुनाव में 17% बढ़ा वोट

Bihar Assembly Polls 2020 : पिछले दो चुनावों से मतदान प्रतिशत (Voting Percentage) में महिलाएं लगातार पुरुषों को पछाड़ रही हैं.

बिहार चुनाव : महिलाएं मतदान में लगातार पुरुषों को पछाड़ रहीं, चार चुनाव में 17% बढ़ा वोट

Bihar Election 2020 : लगातार बढ़ रही महिलाओं की लोकतंत्र में भागीदारी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

बिहार विधानसभा ( Bihar Elections 2020 )के पिछले चार चुनावों की बात करें तो महिलाओं की भागीदारी लगातार बढ़ती जा रही है. पिछले दो दशक में हुए चार विधानसभा चुनावमें महिलाओं का मतदान करीब 17 फीसदी बढ़ा है. पिछले दो चुनावों से तो मतदान प्रतिशत (Voting Percentage) में महिलाएं लगातार पुरुषों को पछाड़ रही हैं.

ययह भी पढ़ें- Bihar election 2020 :महिलाओं को टिकट देने में बीजेपी-कांग्रेस से आगे जदयू और राजद

बिहार में फरवरी 2005 के चुनाव में करीब 2.44 करोड़ वोट पड़े थे. इसमें 43 फीसदी महिलाओं के साथ करीब एक करोड़ महिलाओं ने वोट डाला. जबकि 1.4 करोड़ वोटों के साथ करीब 57.5 फीसदी पुरुषों ने वोट डाला था. महिलाओं के कम मतदान के साथ कुल वोटिंग प्रतिशत 46.5 फीसदी रह गया. लेकिन परिणाम त्रिशंकु विधानसभा के तौर पर आया और अक्टूबर में दोबारा चुनाव कराना पड़ा.

यह भी पढ़ें-  प्रचार के अंतिम दिन नीतीश के गढ़ में गरजे तेजस्वी, बोले-‘तीर' नहीं मिसाइल का जमाना

अक्तूबर 2005 में दोबारा चुनाव हुआ तो 2.35 करोड़ वोटर में एक करोड़ छह लाख महिलाएं थीं. महिलाओं की वोटिंग दो फीसदी बढ़कर 45 फीसदी पहुंची. जबकि पुरुषों का मतदान प्रतिशत 2.5 फीसदी घटकर 55 पर आ गया. हालांकि कुल मतदान प्रतिशत घटकर 45.85 रह गया. लेकिन महिलाओं का मतदान प्रतिशत बढ़ने के साथ स्पष्ट जनादेश मिला.

यह भी पढ़ें- ग्राउंड रिपोर्ट: जमुई सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में दांव पर 'लाल कोठी' का सियासी दबदबा 

2010 में दस फीसदी बढ़ा वोट
बिहार में 2010 के चुनाव (Election) में महिलाओं की भागीदारी रिकॉर्ड दस फीसदी बढ़कर 54.5 फीसदी पर पहुंच गई. जबकि पुरुषों को वोटिंग प्रतिशत में दो फीसदी की और गिरावट आई और यह घटकर 51.12 फीसदी रह गई. चुनाव में करीब 1.38 करोड़ महिलाओं और 1.51 करोड़ पुरुषों ने मतदान किया. पुरुषों के घटते रुझान के कारण कुल मतदान फीसदी 52.67 फीसदी रहा.

2015- महिलाओं का रिकॉर्ड 60 फीसदी मतदान
बिहार विधानसभा के 2015 के चुनाव में महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत बढ़कर 60.48 फीसदी पर पहुंच गया. जबकि पुरुषों का मतदान 53.32 ही रहा. महिलाओं के मतदान में लगातार उछाल का नतीजा रहा कि पुरुषों से कम आबादी होने के बावजूद महिलाओं ने उनके बराबर ही करीब 1.9 करोड़ वोट डाले.

इस बार कायम हो सकता है नया इतिहास
चुनाव विश्लेषकों का कहना है कि 2020 के विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में महिलाएं वोट के मामले में पुरुषों से आगे निकल सकती हैं. क्योंकि आर्थिक गतिविधियां शुरू होने के बाद बड़ी संख्या में बिहार के लोग देश के दूसरे हिस्सों में कामकाज के लिए लौट चुके हैं. इस बार चुनाव बूथ (Polling Booth)पर 1500 की जगह 1000 मतदाता रखे गए हैं, लिहाजा महिला वोटरों की लंबी लाइन देखने को पहले चरण के चुनाव में देखने को भी मिली है.

राजनीतिक दलों ने नहीं दिए ज्यादा टिकट
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Polls 2020) में महिला प्रत्याशियों (Women Candidate) को टिकट देने में जदयू, राजद जैसे क्षेत्रीय दल फिलहाल राष्ट्रीय पार्टी भाजपा और कांग्रेस से कहीं आगे नजर आ रहे हैं. जदयू (JDU) से करीब 20 फीसदी सीटों पर महिलाएं मैदान में हैं. बीजेपी, राजद ने करीब 10 फीसदी टिकट महिलाओं को दिए हैं. कांग्रेस इनमें सबसे पीछे है.

पहले चरण के मतदान ने बढ़ाया जोश
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Polls) के पहले चरण की 71 सीटों के लिए मतदान 28 अक्टूबर को हुआ था. इसमे करीब 55.69 फीसदी वोट पड़ा है. यह 2015 के चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव से ज्यादा है. बिहार में 2015 के चुनाव के पहले चरण में 54.94 फीसदी वोट पड़े थे. जबकि लोकसभा चुनाव में 53.54% मतदान हुआ. दूसरे चरण में तीन नवंबर को 94 सीटों पर वोट पड़ेंगे. जबकि तीसरे चरण में सात नवंबर को 78 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का चुनाव प्रचार आज शाम समाप्त हो जाएगा.

बिहार चुनाव : NDTV से बोलीं श्रेयसी सिंह- राजनीति में दिख रही नई पीढ़ी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com