विश्वासमत साबित करने में विफल रहने के बाद कांग्रेस का हमला, कहा- पिछले दरवाजे से सत्ता में आ रही BJP

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि भाजपा पिछले दरवाजे से सत्ता तक पहुंचने का प्रयास कर रही है.

विश्वासमत साबित करने में विफल रहने के बाद कांग्रेस का हमला, कहा- पिछले दरवाजे से सत्ता में आ रही BJP

कांग्रेस ने बीजेपी पर खरीद-फरोख्त का लगाया आरोप.

खास बातें

  • विश्वासमत में विफल रहने के बाद कांग्रेस का हमला
  • सिद्धारमैया बोले- पिछले दरवाजे से सत्ता में आ रही BJP
  • पूर्व सीएम ने बीजेपी पर खरीद-फरोख्त का लगाया आरोप
नई दिल्ली:

कर्नाटक (Karnataka) का सियासी नाटक अब खत्म हो चुका है. कर्नाटक में बीते कई दिनों से जारी राजनीतिक उठापटक के बीच 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) सरकार गिर गई. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) विधानसभा में बहुमत साबित नहीं कर सके. फ्लोर टेस्ट के दौरान सरकार के पक्ष में 99 और विरोध में 105 वोट डाले गए. वहीं, कांग्रेस ने इसके लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि भाजपा पिछले दरवाजे से सत्ता तक पहुंचने का प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि राज्य में 'अनैतिक, अवैध और गैरसंवैधानिक' सरकार आने वाली है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक का सियासी नाटक खत्म: 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरी, कुमारस्वामी नहीं साबित कर सके बहुमत

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन के विश्वासमत हासिल करने में विफल रहने के बाद सिद्धारमैया ने कहा, 'भाजपा पिछले दरवाजे से सत्ता में आ रही है. उन्हें (भाजपा) लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं है. उन्होंने पाला बदलवाने का काम किया, खरीद-फरोख्त की और विधायकों को प्रलोभन दिया.' उन्होंने कहा कि संवैधानिक प्रावधानों के तहत गठबंधन सरकार बनी थी.

यह भी पढ़ें: कांग्रेस-JDS सरकार गिराने के बाद बोले येदियुरप्पा, यह लोकतंत्र की जीत- कुमारस्वामी की सत्ता से तंग आ चुके थे लोग

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा ने सरकार बनाने के लिए बागियों को खरीदा, जबकि उसके पास जनमत नहीं है. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस और जेडीएस को साथ मिलाकर 56 प्रतिशत वोट मिले थे, जबकि भाजपा को महज 36 प्रतिशत वोट मिले.' सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि भाजपा ने सरकार बनाने के लिए संवैधानिक प्रावधानों को नजरंदाज किया. उन्होंने कहा, 'अनैतिक, गैर कानूनी और असंवैधानिक सरकार सत्ता में आने वाली है.' 

 

यह भी पढ़ें: कर्नाटक में विश्वास मत के दौरान BSP विधायक के गैरहाजिर रहने पर मायावती ने पार्टी से निकाला 

उधर, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने यह भी कहा कि पार्टी भाजपा की इस 'राजनीतिक खरीद-फरोख्त' के खिलाफ अब देशभर में प्रदर्शन करेगी. कांग्रेस के कर्नाटक प्रभारी ने ट्वीट कर कहा, 'कर्नाटक में भाजपा द्वारा सरकार गिराना देश में अब तक की सबसे जघन्य राजनीतिक खरीद-फरोख्त है. यह केंद्र सरकार, राज्यपाल, महाराष्ट्र सरकार और भाजपा नेतृत्व द्वारा मिलकर किया गया.' उन्होंने कहा, 'हमारे जो विधायक पार्टी के साथ खड़े रहे और जिन कार्यकर्ताओं ने राजनीतिक नैतिकता को बरकरार रखने की लड़ाई लड़ी वो बड़े सम्मान के हकदार हैं.'

वेणुगोपाल ने दावा किया, 'भाजपा सदन में भले ही संख्या के मामले में भारी पड़ी, लेकिन कांग्रेस और जेडीएस ने नैतिक जीत हासिल की.' उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी 'भाजपा द्वारा अनैतिक ढंग से सरकार गिराने' के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन करेगी.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक के इतिहास में केवल तीन मुख्यमंत्रियों ने ही पूरा किया अपना कार्यकाल, देखें LIST

उधर, मतदान के बाद विजय चिन्ह बनाते हुए भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा ने परिणाम को लोकतंत्र की जीत बताया. उन्होंने कर्नाटक के लोगों को आश्वस्त किया कि भाजपा के सत्ता में आने के साथ विकास का एक नया युग आरंभ होगा. अगले कदम पर येदियुरप्पा ने कहा कि शीघ्र ही उपयुक्त फैसला किया जाएगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO:  कर्नाटक की एचडी कुमारस्वामी सरकार गिरी 

(इनपुट: भाषा)