सांसद अनंत हेगड़े के '40 हजार करोड़ रुपये' वाले बयान से बैकफुट पर BJP,देवेंद्र फडणवीस को देनी पड़ी सफाई

कर्नाटक से सांसद अनंत हेगड़े के 40 हजार करोड़ वाले बयान पर ऐसा लग रहा है कि BJP बैकफुट आ गई है और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को सफाई देनी पड़ रही है.

सांसद अनंत हेगड़े के '40 हजार करोड़ रुपये' वाले बयान से बैकफुट पर BJP,देवेंद्र फडणवीस को देनी पड़ी सफाई

महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणवीस को अनंत हेगड़े के बयान पर सफाई देनी पड़ रही है

खास बातें

  • सांसद अनंत हेगड़े के बयान पर सफाई
  • फडणवीस ने बयान को बताया आधारहीन
  • हेगड़े ने कहा था- 40 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर के लिए बने थे CM
नई दिल्ली:

कर्नाटक से सांसद अनंत हेगड़े के 40 हजार करोड़ वाले बयान पर ऐसा लग रहा है कि BJP बैकफुट आ गई है और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को सफाई देनी पड़ रही है. फडणवीस ने कहा है कि इस तरह का उन्होंने कोई बड़ा नीतिगत फैसला उस दौरान सीएम पद पर रहते हुए नहीं लिया है. ऐसे सभी आरोप गलत हैं.  गौरतलब है कि अपने बयानों के लिए मशहूर बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने कहा है यह कहकर सबको चौंका दिया कि महाराष्ट्र से 40 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर करने के लिए देवेंद्र फडणवीस को तीन दिन के लिए  सीएम बनाया गया था. उन्होंने कहा, 'आपको पता है कि हमारे आदमी 80 घंटे के लिए महाराष्ट्र में सीएम बना था. इसके बाद फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया. उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया था? क्या हमें पता नहीं था कि हमारे पास बहुमत नहीं है फिर भी वह मुख्यमंत्री बने. यह सवाल हर कोई पूछता है. मुख्यमंत्री के पास करीब 40 हजार करोड़ रुपये थे. अगर Congress-NCP और शिवसेना  सत्ता में आ जाते तो वे इन पैसों का गलत इस्तेमाल करते. यह सब केंद्र का पैसा था और इसका इस्तेमाल राज्य के विकास में नहीं होता. यह सब कुछ बहुत पहले तय कर लिया गया था. इसलिए यह ड्रामा रचा गया. फडणवीस ने शपथ लेते ही 15 घंटे के अंदर सारा पैसा केंद्र को भेज दिया'.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में जहां एक दिन पहले तक हो चुका था कि Congress-NCP और शिवसेना मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं और उद्धव ठाकरे सीएम होंगे लेकिन उसी रात बीजेपी ने एनसीपी के वरिष्ठ नेता अजित पवार को तोड़ लिया और सुबह चौंकाते हुए देवेंद्र फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ले ली और अजित पवार डिप्टी सीएम बन गए. इसके बाद Congress-NCP और शिवसेना  सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई और जहां फैसला हुआ कि देवेंद्र फडणवीस को बहुमत साबित करना होगा. इससे पहले दावा किया जा रहा था कि अजित पवार के साथ एनसीपी के कई विधायक आ गए हैं. लेकिन यह दवा हवा-हवाई साबित हुआ और बहुमत साबित करने से पहले अजित पवार फिर एनसीपी में वापस लौट गए. बाद में राज्य में उद्धव ठाकरे ने सीएम पद की शपथ ली और कांग्रेस के नेता नाना पटोले को विधानसभा स्पीकर बनाया गया है. 

Video : 40 हजार करोड़ बचाने के लिए फडणवीस बने थे तीन दिन के लिए सीएम: अनंत हेगड़े​

अन्य खबरें :

मुंबई : उद्धव ठाकरे ने की घोषणा, आरे कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले वापस लिए जाएंगे

महाराष्ट्र में स्थानीय लोगों के लिए प्राइवेट नौकरियों में कोटा होगा तय, राज्यपाल कोश्यारी ने किया ऐलान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आदित्य ठाकरे ने अपने नाम में जोड़ा मां का नाम, तो बॉलीवुड डायरेक्टर ने कही यह बात-देखें Tweet