वैक्सीन के एमरजेंसी यूज़ की मंजूरी मिलने के बाद 10 दिन में वैक्सीनेशन शुरू कर सकते हैं : स्वास्थ्य मंत्रालय

Coronavirus Vaccine: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया गया किदेश मे 41 बड़े वैक्सीन स्टोर हैं. हेल्थ केअर और फ्रंटलाइन वर्कर को कोविन (Cowin) एप पर रजिस्टर कराने की ज़रूरत नहीं होगी.

वैक्सीन के एमरजेंसी यूज़ की मंजूरी मिलने के बाद 10 दिन में वैक्सीनेशन शुरू कर सकते हैं : स्वास्थ्य मंत्रालय

COVID-19 Vaccine: स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने स्‍पष्‍ट किया कि किसी वैक्सीन एक्सपोर्ट पर रोक नहीं लगी है

नई दिल्‍ली:

Corona vaccine: देश में दो कोरोना वैक्‍सीन को  ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से मंजूरी मिलने के बाद टीकाकरण के लिए तैयारियां पूरे जोर पर हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक वैक्सीन के इमरजेंसी यूज़ की मंजूरी मिलने के 10 दिन के भीतर वैक्सीन लगाना शुरू कर सकते हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया गया कि देश में  41 बड़े वैक्सीन स्टोर हैं. हेल्थ केअर और फ्रंटलाइन वर्कर को कोविन (Cowin) एप पर रजिस्टर कराने की ज़रूरत नहीं होगी. इनका डेटा पहले ही सरकार के पास है लेकिन बाकी मामलों में रजिस्ट्रेशन की ज़रूरत होगी. Cowin एप के ज़रिए यूनीक हेल्थ ID generate कर सकते हैं. वैक्सीन लगवाकर एक QR कोड सर्टिफिकेट भी मिलेगा.अगर कोई देश, कोविन अप्प इस्तेमाल करना चाहे तो भारत सरकार इस मामले में मदद करेगी. गौरतलब हैै क‍ि DCGI ने जिन दो टीकों के सीमित आपात उपयोग की मंजूरी दी है, उनमें ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और एस्ट्राजेनेका के द्वारा सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ मिलकर तैयार कोविशील्ड तथा घरेलू दवा कंपनी भारत बायोटेकके द्वारा विकसित पूर्णत: स्वदेशी कोवैक्सीन शामिल है. 

भारत में COVID-19 के UK म्यूटैन्ट स्ट्रेन के 20 नए केस आए सामने, कुल आंकड़ा 58 हुआ

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने स्‍पष्‍ट किया कि हमने किसी वैक्सीन एक्सपोर्ट पर रोक नहीं लगाई है. उन्‍होंने कहा कि न स्वास्थ्य मंत्रालय, ना DGFT ने ना किसी और ने. भारत बायोटेक और सीरम ने भी साझा बयान जारी किया है. इनके बयान में भी एक्सपोर्ट बैन की कोई बात नहीं है.उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीन को 3 तारीख को मंजूरी मिली है, इसके अगले 10 दिन में हम रोल आउट के लिए तैयार हैं.आखिरी  फैसला सरकार को करना है.

भारत बायोटेक के चेयरमैन ने कहा, "हम पर अनुभवहीन होने का आरोप न लगाएं, हम कई टीकों के निर्माता"

स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने बताया कि देश में अब कोरोना के एक्टिव केस 2.5 लाख से कम पहुंच गए हैं, छह महीने बाद ऐसा हुआ है. उन्‍होंने बताया कि 23 दिसंबर से 5 जनवरी संक्रमण दर 3% से नीचे बना हुआ है. 21 सितंबर को 10 लाख एक्टिव केस थे, 2 जनवरी को 2.5 लाख आ गए. 21 सितंबर को 10 लाख एक्टिव केस थे जो 2 जनवरी को 2.5 लाख तक आ गए हैं. 43.96% मरीज़ अभी अस्पतालों में है जबकि 56.04% मरीज़ होम आइसोलेशन में हैं. इस दौरान आईसीएमआर के डीजी डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि भारत बायोटेक ने 24,218 को पहली डोज़ दे दी है 4409 को दूसरी डोज़ दे दी है .


बच्चों को भी लगाई जा सकती है भारत बायोटेक की कोवैक्सीन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com