NDTV Khabar

सुरक्षा परिषद में 'कश्मीर मुद्दे' पर बैठक से बिफरी कांग्रेस, पीएम मोदी से की यह मांग

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के विषय पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद बैठक को नरेंद्र मोदी सरकार की कूटनीतिक विफलता करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि पीएम मोदी को प्रयास करके यह मीटिंग कैंसिल करवाना चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुरक्षा परिषद में 'कश्मीर मुद्दे' पर बैठक से बिफरी कांग्रेस, पीएम मोदी से की यह मांग

अभिषेक मनु सिंघवी ने मोदी सरकार से की अपील

नई दिल्ली:

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के विषय पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद बैठक को नरेंद्र मोदी सरकार की कूटनीतिक विफलता करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि पीएम मोदी को प्रयास करके यह मीटिंग कैंसिल करवाना चाहिए. पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जो रहा है उससे हम बहुत हैरान हैं. यह पूरे भारत के लिए चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि इसमें किसी को सन्देह नहीं होना चाहिए कि पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है तथा यहां कानून में कोई भी बदलाव भारत का आंतरिक मामला है. 

पाकिस्तान की 'नापाक' कोशिशों के बावजूद जम्मू-कश्मीर में जान-माल का कोई नुकसान नहीं, सोमवार से खुल जाएंगे स्कूल

सिंघवी ने कहा कि 55- 60 साल के बाद पहली बार इस मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश की गई है. उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री से हाथ जोड़कर आग्रह करते हैं कि वह हमारे मित्र देशों के यहां फोन करें और इस बैठक को निरस्त कराएं. सिंघवी ने कहा कि सभी सरकार के साथ खड़े हैं लेकिन यह बैठक सरकार की बहुत बड़ी कूटनीतिक नाकामी है, रणनीतिक नाकामी है.  


31 अक्टूबर 2019 है जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लिए अहम दिन, अनुच्छेद 370 हटने के बाद जानिए क्या-क्या हुआ

टिप्पणियां

दरअसल, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाने के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को बैठक करने जा रही है. पाकिस्तान ने इस मुद्दे को लेकर विश्व निकाय को पत्र लिखा था जिसके बाद यह बैठक हो रही है.  पाकिस्तान के करीबी सहयोगी चीन ने परिषद में बंद कमरे में विचार-विमर्श करने के लिए कहा था. इस मामले पर चर्चा करने के लिए सुरक्षा परिषद की बैठक 10 बजे (भारतीय समयानुसार रात साढ़े सात बजे) होगी. 

Video: अनुच्छेद 370 पर याचिकाकर्ता को फटकार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement