Coronavirus: कोरोना संक्रमित पति पर एम्स नहीं दे रहा ध्यान, पत्नी और बेटे का सैंपल नहीं लिया

भोपाल में कोरोना वायरस (Coronavirus) पॉजिटिव राजकुमार पांडे एम्स में इलाज में अनदेखी किए जाने से परेशान, उनकी पत्नी प्रीति पांडे ने वीडियो जारी करके लगाई मदद की गुहार

Coronavirus: कोरोना संक्रमित पति पर एम्स नहीं दे रहा ध्यान, पत्नी और बेटे का सैंपल नहीं लिया

Coronavirus: प्रीति पांडे ने वीडियो जारी करके पति का इलाज न किए जाने का दुखड़ा सुनाया है.

खास बातें

  • राजकुमार पांडे का परिवार शिव लोक 3 खजूरी कलां में रहता है
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन राज्य कार्यालय में आईटी सलाहकार हैं पांडे
  • दो दिन से एम्स में भर्ती पांडे का कोई उपचार नहीं हो रहा
भोपाल:

भोपाल में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से पीड़ित मरीजों के इलाज में भेदभाव किया जा रहा है. एक महिला ने इसकी शिकायत एक वीडियो जारी करके की है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में कार्यरत उनके पति कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद से भोपाल के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती हैं लेकिन उनका समुचित उपचार नहीं किया जा रहा है. सिर्फ कोरोना वायरस संक्रमित उच्च अधिकारियों का इलाज किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा है कि उनका और उनके बेटे का अब तक सैंपल नहीं लिया गया है.  

महिला ने वीडियो में कहा है कि ''मेरा नाम प्रीति पांडे है. मेरे पति का नाम राजकुमार पांडे है. हम लोग शिव लोक-3 खजूरी कलां, भोपाल में रहते हैं. मेरे पति राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन राज्य कार्यालय भोपाल में आईटी सलाहकार के पद पर कार्यरत हैं. स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुलाई गई बैठक में भाग लेने मेरे पति गए हुए थे जहां से वह कोरोना से इनफेक्टेड हो गए. उन्होंने जांच कराई पॉजिटिव होने पर एम्स भोपाल में भर्ती हो गए. दो दिन से वहां उनका कोई उपचार नहीं हो रहा है. एम्स के ज्यादातर डॉक्टर छुट्टी पर हैं. दो दिन में उन्हें कोई देखने नहीं आया सिर्फ आइसोलेशन के नाम पर वहां डाल रखा है.''
 
उन्होंने कहा है है ''वहां उनको खाना पीना भी नहीं मिल रहा है. शासन की गाइडलाइन के अनुसार उनका कोई उपचार नहीं किया जा रहा है. तीन दिन में अभी तक एक बार भी विटामिन सी का डोज नहीं दिया गया है. उपचार के नाम पर केवल दो टेबलेट दी गई हैं. रिपोर्ट पॉजिटिव है, झ्लाज शुरू ही नहीं हुआ है. बहुत चिंता की बात है. वे परेशान होकर दो दिन में सभी से गुहार लगा चुके हैं कि उन्हें एम्स से हटाकर भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल में शिफ्ट करवा दिया जाए लेकिन कोई भी सुनने को तैयार नहीं है.''

प्रीति पांडे ने कहा है कि ''लापरवाही की हद देखिए कि मैं मेरे ढाई साल के वच्चे के साथ तीन दिन से घर में बंद हूं, अभी तक कोई ना तो हमारा सैंपल लेने आया, ना ही हमारे घर को सैनिटाइज किया. मेरे पति  के पॉजिटिव होने की खबर मीडिया एवं सोशल मीडिया से लगातार प्रसारित की जा रही है, इसके बावजूद  हमारे घर के आसपास के इलाके में  सैनिटाइजेशन व सतर्कता के लिए स्वास्थ्य विभाग या नगर निगम द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया. ''

उन्होंने कहा है कि ''यह वीडियो में सोशल मीडिया के माध्यम से आप सब लोगों तक पहुंचा रही हूं, कृपया मेरी सभी से बार-बार विनती है कि माननीय प्रधानमंत्री जी, मुख्यमंत्री जी तक यह वीडियो पहुंचाएं ताकि मेरे पति व मेरे परिवार और मेरे आस-पास  के इलाके में कोरोना से बचाव, सुरक्षा एवं उपचार के लिए त्वरित कार्यवाही हो सके.''

VIDEO : भोपाल में पांच नए मरीज सामने आए

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com