NDTV Khabar

आसाराम मामले में अदालत का फैसला स्वागत योग्य : माकपा

पार्टी ने कहा कि इस मामले में पीड़िता और उसके परिवार की आवाज दबाने के लिये हिंसा का भी सहारा लिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आसाराम मामले में अदालत का फैसला स्वागत योग्य : माकपा

(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: माकपा ने कथावाचक आसाराम और दो अन्य आरोपियों को नाबालिग के साथ बलात्कार के मामले में दोषी ठहराये जाने के अदालत के फैसले का स्वागत करते हुये इसे न्याय की जीत बताया है. माकपा पोलित ब्यूरो की ओर से बुधवार को जारी बयान के अनुसार यह मामला स्वयंभू बाबा आसाराम के अपने अनुयायियों की आस्था और विश्वास के नाम पर नाबालिगों के यौन शोषण से जुड़ा़ है इसलिये इसमें दोषियों को दी गयी कठोर सजा का पालन सुनिश्चित करना जरूरी है.पार्टी ने कहा कि इस मामले में पीड़िता और उसके परिवार की आवाज दबाने के लिये हिंसा का भी सहारा लिया गया. नौ गवाहों पर हमले किये गये, इनमें से तीन की मौत भी हो गयी.

यह भी पढ़ें : आसाराम के लिए ही नहीं इन दोषियों के लिए भी जेल में लगाई गई थी अदालत

पार्टी ने जीवित बची किशोरी के साहस को सराहनीय बताया जिसकी वजह से यौन शोषण के खिलाफ उसका संघर्ष मिसाल बना और मामला न्याय के मुकाम तक पहुंच सका.पोलित ब्यूरो ने अदालत से इससे जुड़े अन्य मामलों, खासकर गवाहों की मौत के मामलों में भी सुनवायी जल्द पूरी करने की उम्मीद जताई. 

टिप्पणियां
VIDEO : नाबालिग से रेप केस में आसाराम को ताउम्र कैद की सजा​

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement