NDTV Khabar

उन्नाव और कठुआ के रेप मामलों को लेकर आज से अनशन करेंगी स्वाति मालीवाल

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, कहा- जब तक देश की बेटी बचाने के सही उपाय देश के सामने नहीं रखेंगे तब तक अनशन करूंगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उन्नाव और कठुआ के रेप मामलों को लेकर आज से अनशन करेंगी स्वाति मालीवाल

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने उन्नाव और कठुआ के बलात्कार मामलों को लेकर पीएम मोदी को पत्र लिखा है.

खास बातें

  1. स्वाति मालीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ को भी लिखा पत्र
  2. उन्नाव बलात्कार मामले में एमएलए पर कार्रवाई की मांग
  3. कठुआ में 10 साल की बच्ची की गैंगरेप के बाद की गई हत्या
नई दिल्ली: उन्नाव में बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा एक लड़की से बलात्कार और जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक बच्ची की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या के मामले को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल कल से अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगी. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है जिसमें इन घटनाओं पर दुख जताते हुए देश में बेटियों को बचाने की मांग की गई है.    

स्वाति मालीवाल ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि 'आपके अनशन से प्रेरणा लेकर मैंने संकल्प लिया है कि अनिश्चकालीन अनशन पर बैठूंगी. जब तक आप देश की बेटी बचाने के सही उपाय देश के सामने नहीं रखेंगे मैं पूर्ण अनशन पर रहूंगी.

इससे पहले बुधवार को स्वाति मालीवाल ने उन्नाव बलात्कार मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को पत्र लिखा था. पत्र में विधायक द्वारा नाबालिग का बलात्कार करने और पुलिस हिरासत में पीड़ित के पिता की मौत का मुद्दा उठाया गया. उन्होंने अभियुक्त विधायक को तुरंत गिरफ्तार करने और मामले में फास्ट ट्रैक ट्रायल छह माह में पूरा करने का निवेदन किया है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए लिखा कि पीड़ित पिछले एक साल से लगातार विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ बलात्कार की एफआईआर दर्ज कराने की कोशिश कर रही है, मगर पुलिस उसके अधिकारों का संरक्षण करने और विधायक के खिलाफ मामला दर्ज करने में असफल रही है. उल्टा उसके परिवार को विधायक की शह पर पुलिस द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है और धमकाया जा रहा है. इससे परेशान होकर पीड़ित और उसके परिवार ने मुख्यमंत्री के घर के सामने आत्महत्या करने की कोशिश की. उनकी सहायता करने की जगह उसके पिता को ही हिरासत में ले लिया गया और पुलिस हिरासत में कथित रूप से पिटाई करने की वजह से उनकी मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : कठुआ मामला: सिर्फ बच्ची से रेप करने के लिए मेरठ से जम्मू गया था आरोपी छात्र,चार्जशीट में हुआ खुलासा

गौरतलब है कि जम्मू एवं कश्मीर के कठुआ में आठ वर्ष की बच्ची की गैंगरेप के बाद  हत्या कर दी गई. बच्ची को 10 जनवरी को उसके गांव के पास से अगवा कर लिया गया था. उसे नशे में रखा गया, और कई दिन तक उसके साथ कई लोगों ने गैंगरेप किया, जिनमें पुलिस अधिकारी और एक किशोर भी शामिल था. बाद में उसे मार दिया गया. चार्जशीट के मुताबिक, उसका सिर पत्थर से कुचले जाने से ठीक पहले पुलिस अधिकारियों में से एक ने हत्यारे से कुछ देर रुकने के लिए कहा, ताकि वह एक बार और बच्ची के साथ रेप कर सके. बलात्कारियों में से एक को उत्तर प्रदेश के मेरठ से खासतौर से बुलाया गया था, ताकि वह अपनी 'हवस पूरी कर सके.' बच्ची का शव 17 जनवरी को जंगल से बरामद हुआ. जब उसकी बिरादरी और स्थानीय लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया, दो पुलिस वालों ने सबूतों से छेड़छाड़ कर आरोपी की मदद करने की कोशिश की.

टिप्पणियां
VIDEO : कठुआ बलात्कार मामले को लेकर सियासत तेज

इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मुख्य अभियुक्त सांजीराम ने इस अपराध की साजिश रची थी, ताकि बखेरवाल बंजारा समुदाय के लोगों में डर पैदा किया जा सके और उन्हें रसाना क्षेत्र से खदेड़ा जा सके. अन्य अभियुक्तों में स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजूरिया, सुरेंद्र वर्मा और प्रवेश कुमारू के अलावा सांजीराम का नाबालिग भतीजा और सांजीराम का बेटा विशाल जंगोत्रा शामिल हैं


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement