बीजेपी मुख्यालय से निकलेगी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)में निधन हो गया. वह 93 वर्ष के थे. उनका 11 जून से एम्स में इलाज चल रहा था.

बीजेपी मुख्यालय से निकलेगी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा

शुक्रवार को अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार किया जायेगा

नई दिल्ली:

पू्र्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर आज रात कृष्णा मेनन मार्ग स्थित उनके आवास पर ही रहेगा. शुक्रवार को तकरीबन 9 बजे उनके पार्थिव शरीर को बीजेपी मुख्यालय लाया जाएगा. तकरीबन 1.30 बजे अंतिम यात्रा निकाली जाएगी. वाजपेयी की अंतिम यात्रा बीजेपी मुख्यालय से दीन दयाल उपाध्याय मार्ग (डीडीयू) से होते हुये आईटीओ रेड लाइट और वहां से राजघाट के पीपीछे राष्ट्रीय स्मृति घाट राजघाट से राष्ट्रीय स्मृति पहुंचेगी. वहीं पर उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा. गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)में निधन हो गया. वह 93 वर्ष के थे. उनका 11 जून से एम्स में इलाज चल रहा था. उन्हें एम्स में जीवन रक्षक प्रणाली (लाइफ सपोर्ट सिस्टम) पर रखा गया था. उनकी हालत बुधवार रात से ही काफी नाजुक बनी हुई थी.  प्रधानमंत्री मोदी समेत देश के कई वरिष्ठ नेता और मंत्री भी वाजपेयी का हाल-चाल जानने एम्स पहुंचे थे. उनकी नाजुक हालत की खबर मिलते हीं देशभर में दुआओं का दौरा शुरू हो गया था.  इससे पहले एम्स ने बयान जारी कर कहा था कि उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ है.  वाजपेयी को 2014 में देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे. वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही चल पाई थी. 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने, तब उनकी सरकार 13 महीनों तक चली थी. 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और 5 सालों का कार्यकाल पूरा किया. 

अटल बिहारी वाजपेयी का निधन : राहुल गांधी ने कहा- भारत ने महान सपूत खोया, वाजपेयी से जुड़ीं कुछ ऐसी बातें जो शायद ही आप जानते होंगे

देश के इस स्टेशन पर पहली बार मिले दोनों, और भारतीय राजनीति में बन गये एक नाम 'अटल-आडवाणी'

अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, जब लता मंगेशकर की इस बात पर खूब हंसे थे पूर्व PM

'पहरा कोई काम न आया, रसघट रीत चला, जीवन बीत चला...'​
मिल रही जानकारी के मुताबिक अटल बिहारी वाजपेयी की इस 'अटल यात्रा' में शामिल होने के लिये पूरे देश से बीजेपी कार्यकर्ता पहुंच रहे हैं. कार्यक्रम के मुताबिक बीजेपी मुख्यालय से राजघाट तक 10 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. इस यात्रा में प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहित बीजेपी, कांग्रेस सहित कई पार्टियों के नेता शामिल हो सकते हैं.


Atal Bihari Vajpayee: मैं हमेशा से ही वादे लेकर नहीं आया, इरादे लेकर आया हूं, जानिए अटल बिहारी वाजपेयी के 10 प्रेरणादायक विचार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video: भोजपुरी सितारों ने दी अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि, पढ़ी उनकी कविताएं...

Atal Bihari Vajpayee Death: जब अटल बिहारी वाजपेयी बैलगाड़ी से पहुंचे संसद, देखें पूर्व प्रधानमंत्री की 10 Unseen Photos