NDTV Khabar

झारखंड : भ्रष्टाचार का उजागर करने वाले BJP नेता सरयू राय 'होल्ड' पर, और उसी केस के आरोपी को टिकट

भारतीय जनता पार्टी ने भ्रष्टाचार से समझौता कर लिया है. कम से कम झारखंड में तो यही लगता है. जिस बीजेपी ने वहां मधु कोड़ा और उनके सहयोगियों द्वारा किया गए घोटाले को उजागर किया उसने चुनाव की घोषणा होने से पहले उस घोटाले के एक मुख्य आरोपी भानु प्रताप शाही को पार्टी में शामिल करा लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड : भ्रष्टाचार का उजागर करने वाले BJP नेता सरयू राय 'होल्ड' पर, और उसी केस के आरोपी को टिकट

मुख्यमंत्री रघुबर दास (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. झारखंड विधानसभा चुनाव
  2. बीजेपी की पहली सूची जारी
  3. घोटाले के आरोपी को टिकट
पटना:

क्या भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने भ्रष्टाचार से समझौता कर लिया है? कम से कम झारखंड में तो यही लगता है. जिस बीजेपी ने वहां मधु कोड़ा और उनके सहयोगियों द्वारा किया गए घोटाले को उजागर किया उसने चुनाव की घोषणा होने से पहले उस घोटाले के एक मुख्य आरोपी भानु प्रताप शाही को पार्टी में शामिल करा लिया. रविवार को पार्टी द्वारा 52 विधानसभा की पहली सूची में जहां को भानु प्रताप शाही भवनाथपुर से टिकट दे दिया गया. वहीं इस घोटाले को उजागर करने वाले सरयू राय का टिकट फ़िलहाल होल्ड पर रखा गया है. सरयू राय जमशेदपुर पश्चिम से  विधायक हैं और माना जा रहा हैं कि मुख्यमंत्री रघुबर दास समेत पार्टी का एक तबक़ा उनका टिकट काटने के पक्ष में हैं.  बीजेपी के नेता चाहे बिहार में हो या झारखंड में उनका मानना है कि इन दोनों राज्यों में घोटालों को उजागर करने में उनकी मुख्य भूमिका रही है. ख़ासकर चारा घोटाले और मधु कोड़ा और उनके सहयोगियों द्वारा किए गये घोटाले को उजागर करने में राय की भूमिका सबसे अधिक रही थी. शाही का जहां तक घोटाले में संलिप्ता का सवाल है तो उनके ख़िलाफ़ आरोप पत्र सीबीआई और ईडी दोनों दायर कर चुकी है और फ़िलहाल ट्रायल चल रहा है. 

हालांकि झारखंड भाजपा के नेताओं का कहना हैं कि भानु प्रताप को जहां पार्टी के सर्वे में जीतने की सम्भावना देखते हुए पार्टी में शामिल कराया गया और उनके विधानसभा भावनाथपुर विधानसभा में  पहले  चरण में चुनाव होने के कारण टिकट की घोषणा कर दी गयी. वहीं जमशेदपुर में दूसरे चरण में मतदान होना है. हालांकि उस चरण में जिन विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होना है उसमें से अधिकांश प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी गई है जिसमें मुख्यमंत्री रघुवर दास का चुनाव क्षेत्र भी शामिल है लेकिन फ़िलहाल सबकी नज़र अब इस बात पर होती है कि क्या पार्टी राय का टिकट काटी है या फिर उन्हें मैदान में उतारेगी यह भी माना जा रहा है कि राय मंत्रिमंडल में रहने के बावजूद कैबिनेट की बैठक से दूर रहते थे और बार बार सरकार की आलोचना करने से बाज़ नहीं आते थे जिसके कारण पार्टी का एक तबक़ा जिसमें मुख्यमंत्री रघुबर दास जिनके चेहरा पर इस बार वोट मांगा जा रहा हैं उनकी जगह किसी और को टिकट देने के पक्ष में हैं.


BJP के द्वारा जारी पहली सूची में अधिकांश दूसरे दलों से आए नेताओं का टिकट पक्का कर दिया गया है जिसमें कांग्रेस से आए मनोज यादव झारखंड मुक्ति मोर्चा से दिनेश सारंगी राजद के पूर्व विधायक जनार्दन पासवान मुख्य हैं वहीं BJP ने विधान सभा में मुख्य सैशेज़ राधा कृष्णा किशोर का छतरपुर से टिकट काट दिया है. 

क्या कहता है झारखंड के पिछले चुनाव का गणित?​

अन्य बड़ी खबरें :

Jharkhand Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की पहली सूची, उरांव लड़ेंगे लोहरदगा से चुनाव

टिप्पणियां

झारखंड चुनाव : हेमंत सोरेन होंगे महागठबंधन के सीएम पद का चेहरा, सीटों का बंटवारा हुआ

Jharkhand Assembly Election: बीजेपी ने जारी की 52 उम्मीदवारों की पहली सूची



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement