कर्नाटक के इस गांव में किसान पालतू कुत्तों को बाघ की तरह क्यों रंग रहे हैं?

भारत में किसानों की हालत किसी से छिपी नहीं है. प्राकृतिक आपदाओं से लेकर जंगली जानवरों से बचाते हुए अपनी फसल को किसी न किसी तरह से बचाते हैं. समस्याएं कितनी भी बड़ी हों भारतीय किसान अपने दम से जूझते नजर आते हैं.

कर्नाटक के इस गांव में किसान पालतू कुत्तों को बाघ की तरह क्यों रंग रहे हैं?

कर्नाटक किसानों ने कुत्तों को बाघ की तरह रंग रहे हैं.

नई दिल्ली:

भारत में किसानों की हालत किसी से छिपी नहीं है. प्राकृतिक आपदाओं से लेकर जंगली जानवरों से बचाते हुए अपनी फसल को किसी न किसी तरह से बचाते हैं. समस्याएं कितनी भी बड़ी हों भारतीय किसान अपने दम से जूझते नजर आते हैं. कर्नाटक में कॉफी और सुपारी की फसल को बंदरों से बचाने के लिए एक हैरान कर देने वाला तरीका ढूंढ़ निकाला है. शिवमोगा जिले के किसानों ने अपने पालतू कुत्तों को रंग से बाघ में बदल दिया है. नलूरू गांव के रहने वाले श्रीकांत गौड़ा ने बताया कि उन्होंने अपने कुत्तों को बाघ में बदल दिया है.  

न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में उनका कहना है कि इससे पहले उन्होंने बाघ जैसे खिलौनों का भी इस्तेमाल किया था लेकिन उसका कोई असर नहीं पड़ा.  उन्होंने बताया कि गोवा से उन्होंने बाघ की तरह वाले खिलौने मंगाए थे. लेकिन कुछ दिनों बाद  उनका कलर हल्का पड़ गया और बंदर फिर से वापस आ गए, सारी फसल खराब कर दी. इसके बाद फिर पालतू कुत्तों को बाघ की तरह रंगने का तरीका ढूंढ़ा गया. 

श्रीकांत ने बताया कि बुलबुल (पालतू कुत्ते का नाम) को दो बार खेतों में ले जाता हूं. एक बार सुबह और फिर शाम में. उसको देखते ही सारे बंदर भाग जाते थे. अब बंदर में खेतों से दूर रहते हैं. वहीं श्रीकांत गौड़ा की बेटी अनन्या ने बताया कि उनकी पिता की तरकीब को अब गांव में सभी लोग इस्तेमाल कर रहे हैं. 

अन्य बड़ी खबरें :

...जब यूपी के महोबा में घोड़ी से उतरकर धरने पर बैठ गया दूल्हा! जानें पूरा मामला

Photo: मुंबई की सड़कों पर मजे से बाइक की सवारी करती दिखी बिल्ली, ट्विटर पर लोगों ने दिए ऐसे रिएक्‍शन...

डूबते हुए मोर को बचाने के लिए कुएं के अंदर चला गया शख्‍स, अंदर बैठे थे जहरीले सांप, देखें Viral Video

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com