NDTV Khabar

संकट में फंसे पीएमसी बैंक के हर खाताधारक के हित का ख्याल रखेगा आरबीआई : निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री ने कहा कि एक अक्टूबर के बाद अगर आप बिजनेस लगाते हैं तो आप को दुनिया में सबस कम टैक्स देना होगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
संकट में फंसे पीएमसी बैंक के हर खाताधारक के हित का ख्याल रखेगा आरबीआई : निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को मीडिया से बातचीत की.

नई दिल्ली:

पीएमसी संकट पर आरबीआई गवर्नर ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को आश्वासन दिया है कि संकट में फंसे बैंक के हर खाताधारक के हित का ख्याल रखा जाएगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को गवर्नर से बातचीत के बाद यह खुलासा किया. दिल्ली में एक मीडिया ब्रीफिंग में वित्त मंत्री ने सोमवार को कहा, "मैंने पीएमसी मसले पर आरबीआई गवर्नर से आज सुबह बात की है. आरबीआई गवर्नर ने मुझे भरोसा दिलाया है कि इस संकट को सुलझाने के दौरान वो पीएमसी के खाताधारकों के हित का ध्यान रखेंगे... मैंने आरबीआई गवर्नर से अपील की है कि क्या इस मामले में ज़ब्त की गई संपत्ति का इस्तेमाल बैंक के ग्राहकों को राहत देने के लिए जल्दी किया जा सकता है?"

मंशा पीएमसी के खाताधारकों की बढ़ती चिंता को दूर करने की थी. वित्त मंत्री का ये बयान बड़े सरकारी बैंकों के सीएमडी के साथ बाज़ार में liquidity की स्थिति पर अहम बैठक के बाद आया. मीडिया ब्रीफ़िंग में सवाल वित्त मंत्री के पति पी प्रभाकर के 'द हिन्दू' में छपे लेख पर भी उठा जिसमें उन्होंने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश में आर्थिक सुस्ती को लेकर हर तरफ चिंता है लेकिन सरकार इसे मानने को तैयार नहीं. सरकार के पास समस्या से निपटने के लिए कोई सोच नहीं है.


PMC बैंक के ग्राहक गुजारे के लिए गहने गिरवी रखने को मजबूर, दिन-रात करेंगे प्रदर्शन

वित्त मंत्री ने सरकार का बचाव किया. निर्मला सीतारमण ने कहा, "2014 से 2019 के बीच फंडामेंटल रिफ़ॉर्म हुए हैं. जीएसटी कांग्रेस के जमाने में नहीं हो पाया, आईबीसी और आधार को यूनीवर्सलाइज किया गया...उज्जवला से आठ करोड़ महिलाओं को फायदा हुआ. फिर भी इस साल बजट के बाद टैक्स रिफॉर्म किया गया. एक अक्टूबर के बाद अगर आप बिजनेस लगाते हैं तो आप को दुनिया में सबस कम टैक्स देना होगा.  यह सब पब्लिक डोमेन में है. इसको एप्रिसिएट करना भी अच्छा होगा."

पति ने की अर्थव्यवस्था की आलोचना और दी सलाह तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आया यह Reaction

बैठक में सरकारी बैंकों ने वित्त मंत्री को बताया कि त्योहारों के सीज़न में बैंकों का क़र्ज़ बढ़ा है. बाजार की डिमांड में सुधार हो रहा है. वित्त सचिव राजीव कुमार ने कहा कि सरकारी बैंकों के सीएमडी ने बताया है कि दुर्गा पूजा के दौरान नौ दिनों में बैंकों ने 81,781 करोड़ की राशि disburse की जिसमें 34,342 करोड़ रुपये नए लोन के तौर पर दिए गए.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी की खामियों को दूर करने के लिए कर विशेषज्ञों से  मांगी सलाह

वित्त मंत्री ने दावा किया कि त्यौहारों के सीज़न में माहौल में कुछ सुधार हुआ है. बैंकों की lending बढ़ी है...लेकिन ये पूछे जाने पर कि अर्थव्यवस्था दोबारा पटरी पर कब लौटेगी, वित्त मंत्री ने कहा कि वो इस बारे में कोई टाइम-फ्रेम नहीं देना चाहतीं.  साफ है, त्यौहारों के सीज़न में कुछ सुधार हुआ है लेकिन अर्थव्यवस्था को मंदी से उबारने में अभी काफी वक्त लगेगा.

VIDEO : पीएमसी बैंक के खाताधारकों की रोजमर्रा की जरूरतें कैसे हों पूरी

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement