NDTV Khabar

Fire in Delhi Factory: दिल्ली फायर सर्विस के चीफ ने कहा- फैक्टरी के पास नहीं था क्लीयरेंस

रविवार सुबह को अनाज मंडी के पास रानी झांसी रोड पर फैक्टरी में आग लग गई. इस दौरान फैक्टरी में कई लोग सो रहे थे, जिस वजह से आग में कई लोग झुलस गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Fire in Delhi Factory: दिल्ली फायर सर्विस के चीफ ने कहा- फैक्टरी के पास नहीं था क्लीयरेंस

Delhi Fire News: DFS चीफ ने कहा कि फैक्टरी को फायर क्लीयरेंस नहीं दिया गया था.

खास बातें

  1. रविवार सुबह लगी थी फैक्टरी में आग
  2. DSF चीफ ने कहा- फैक्टरी को नहीं दिया गया था फायर क्लीयरेंस
  3. फैक्टरी में लगी आग के कारण 43 लोगों की हुई मौत
नई दिल्ली:

दिल्ली के अनाज मंडी के पास एक फैक्टरी में रविवार सुबह आग लगने की घटना में 43 लोगों की मौत मामले में दिल्ली फायर सर्विस (DSF) के चीफ अतुल गर्ग ने कहा कि, ''बिल्डिंग को डीएसएफ की ओर से फायर क्लीयरेंस नहीं दिया गया था''. उन्होंने आगे कहा, ''इमारत में आग से बचाव के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले किसी भी तरह के उपकरण नहीं मिले हैं''. अतुल गर्ग ने अनाज मंडी के पास हुई इस घटना को लेकर एएनआई को यह बयान दिया है. आपको बता दें, रविवार सुबह को अनाज मंडी के पास रानी झांसी रोड पर फैक्टरी में आग लग गई. इस दौरान फैक्टरी में कई लोग सो रहे थे, जिस वजह से आग में कई लोग झुलस गए.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में आग से 43 की मौत, फैक्टरी मालिक की तलाश में पुलिस कर रही है छापेमारी


इस दुर्घटना में अब तक 43 लोगों की मौत हो गई है. वहीं अन्य लोगों का दिल्ली के अलग अलग अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है. बता दें, फैक्टरी में से कुल 64 लोगों को निकाला गया था. 

टिप्पणियां

घटना के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) ने मृतकों के परिजनों को 10 लाख और घायलों को 1 लाख का मुआवजा देने की घोषणा की है. वहीं बीजेपी (BJP) ने भी मृतकों के परिजनों को 5 लाख और घायलों को 25-25 हजार देने का ऐलान किया है. 

Video: हादसे के बाद सीएम सहित कई नेता पहुंचे घटनास्थल पर



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... योगी आदित्यनाथ की सीएए प्रदर्शनकारियों को चेतावनी, 'आज़ादी' के नारे लगाना देशद्रोह माना जाएगा

Advertisement