NDTV Khabar

Exclusive: 'ऑपरेशन बालाकोट' के सबूत मांगे जाने पर NDTV से पूर्व RAW चीफ ने कही यह बात

रिसर्च एंड एनैलिसिस विंग (RAW) के पूर्व प्रमुख एएस दुल्लत (AS Dulat) ने NDTV से कहा, 'राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. पूर्व रॉ प्रमुख एएस दुल्लत ने एनडीटीवी से की बात
  2. कहा-हमले के सबूत सार्वजनिक करने की ज़रूरत नहीं
  3. 'हवाई हमलों का चुनाव में नहीं होना चाहिए इस्तेमाल'
नई दिल्ली:

भारतीय वायुसेना (IAF) की पाकिस्तान के बालाकोट में किए सर्जिकल स्ट्राइक (Balakot Air Strike) के सबूत की मांग विपक्ष लगातार कर रहा है. कांग्रेस (Congrss) सहित कई विपक्षों पार्टियों ने सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) के सबूत मांगे हैं. भारतीय वायुसेना (IAF) ने बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-E-Mohammed) के ठिकानों को निशाना बनाते हुए हवाई हमले किए थे. जिसमें करीब 300 आतंकी मारे गए थे. इस मुद्दे पर पूर्व रॉ (RAW) चीफ ने NDTV से बात की.

यह भी पढ़ें: 'ऑपरेशन बालाकोट' के सबूत मांगने वाले नेताओं को कुमार विश्वास का करारा जवाब

रिसर्च एंड एनैलिसिस विंग (RAW) के पूर्व प्रमुख एएस दुल्लत (AS Dulat) ने NDTV से कहा, 'राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. इन हवाई हमलों का लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में इस्तेमाल नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि 250 आतंकी मारे गए, 300 या 200... सवाल यह है कि आतंकवादी मारे गए... यही काफी है. एयरफोर्स के हमले में हुए नुकसान के सबूत सार्वजनिक करने की कोई ज़रूरत नहीं है. पाकिस्तान भी मानता है कि हमला हुआ है, उसके एयरस्पेस का उल्लंघन किया गया है.'


यह भी पढ़ें: बालाकोट IAF सर्जिकल स्ट्राइक में कितने आतंकी हुए ढेर? अमित शाह ने बताया आंकड़ा

बता दें कि इससे पहले आम आदमी पार्टी के नेता डॉ. कुमार विश्वास ने भारतीय वायुसेना की ओर से की गई एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वालों को नसीहत दी थी. उन्होंने कहा कि ऐसी आत्म-दीपित 'सुहागरातों' के सबूत नहीं मांगे जाते. आपको बता दें कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर की गई आतंकी कार्रवाई के बाद अब सबूत और कितने आतंकी मरे इस पर सवाल उठ रहे हैं. हालांकि भारतीय सेना की ओर से कहा गया है कि आंकड़ों की किसी भी तरह से पुष्टि नहीं की जा सकती है, लेकिन कई लोग ऐसे भी जो दावा कर रहे हैं कि कम से कम 300 आतंकी मारे गए हैं.

यह भी पढ़ें: आखिर क्या हुआ था बालाकोट में? भारत के दावे को साबित कर सकती हैं सैटेलाइट से मिली अप्रकाशित तस्‍वीरें

उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कहना है कि कम से कम 250 आतंकी मारे गए हैं. जबकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी नेता ममता बनर्जी ने कार्रवाई के सबूतों की मांग की है. इसके अलावा कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी कहा है कि सरकार के सैटेलाइट की तस्वीरें जारी करना चाहिए. वहीं एक और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी मांग कि पीएम मोदी को अंतरराष्ट्रीय मीडिया की उन खबरों पर जरूर बोलना चाहिए जिसमें कहा जा रहा है कि बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक में शायद ही किसी की मौत हुई हो. सिब्बल ने कहा, 'क्या अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान के समर्थन में हैं?

यह भी पढ़ें: 'ऑपरेशन बालाकोट' में अगर भारतीय वायुसेना के पास होता राफेल, पढ़ें इस खतरनाक विमान की 10 खासियतें

टिप्पणियां

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री और आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह के दावे पर सवाल उठाते हुए कहा है, 'क्या अमित शाह के मुताबिक़ सेना झूठ बोल रही है? सेना ने साफ़-साफ़ कहा है कि कोई मरा या नहीं मरा या कितने मरे, ये नहीं कहा जा सकता. अपने चुनावी फ़ायदे के लिए क्या अमित शाह और भाजपा सेना को झूठा बोल रहे हैं? देश को सेना पर भरोसा है, क्या अमित शाह और भाजपा को सेना पर भरोसा नहीं?'

VIDEO: हमारा मकसद मरने वालों की गिनती करना नहीं होता- IAF चीफ​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement