NDTV Khabar

बेनामी संपत्ति मामला: राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से आईटी विभाग की पूछताछ

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है. आयकर विभाग ने मंगलवार को बेनामी संपत्ति मामले में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके बेटे तेजस्वी यादव से पूछताछ कर रही है.

454 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेनामी संपत्ति मामला: राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से आईटी विभाग की पूछताछ

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से हो रही पूछताछ
  2. आईटी विभाग ने लालू की रैली से पहले ही भेजा था नोटिस
  3. लालू परिवार ने रैली के बाद पूछताछ की अपील की थी
बिहार: राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है. आयकर विभाग ने मंगलवार को बेनामी संपत्ति मामले में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके बेटे तेजस्वी यादव से पूछताछ कर रही है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह पूछताछ राजधानी पटना स्थित इनकम टैक्स के दफ्तर में हो रही है.

रैली से पहले ही भेजा था नोटिस
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इनकम टैक्स के अधिकारियों ने एक प्रश्नावली बनाई है. इसके आधार पर ही पूछताछ की जार रही है. आईटी विभाग ने लालू परिवार को 'भाजपा भगाओ, देश बचाओं' रैली से पहले ही पूछताछ के लिए नोटिस भेजा था, लेकिन लालू परिवार ने रैली के बाद पूछताछ की अपील की थी.  
 
यह भी पढ़ें : लालू यादव की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेष की मुश्किलें बढ़ी

सुबह 10:30 में आयकर विभाग के दफ्तर पहुंचे थे तेजस्वी
आयकर विभाग के अनुसार, तेजस्वी यादव को साढ़े 10 बजे सुबह बुलाया गया था और उनसे पूछताछ पूरी हो चुकी है. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को 2 बजे बुलाया गया था. राबड़ी बेटी मीसा के साथ आयकर विभाग के दफ्तर पहुंचीं थी. आयकर विभाग की यह पूछताछ उस जमीन के सिलसिले में हो रही है जिसपर मॉल बनाया जा रहा है. 

VIDEO: MoJo: मीसा भारती से आयकर विभाग की लंबी पूछताछ



लालू यादव की कई संपत्तियां जब्त
गौरतलब है कि आयकर विभाग ने दिल्ली से पटना तक लालू प्रसाद यादव के परिवार की कई बेनामी संपत्तियां जब्त की हैं. इनमें लालू की पत्नी राबड़ी देवी, उनके पुत्र तेजस्वी यादव, पुत्री मीसा भारती, दामाद शैलेश कुमार और लालू की अन्य दो बेटियों रागिनी और चंदा यादव की बेनामी संपत्तियां शामिल हैं. जब्त की गई संपत्तियों का बाजार मूल्य करीब 175 करोड़ रुपये बताया गया है, जबकि दस्तावेजों में इनकी कीमत महज 9.32 करोड़ रुपये दिखाई गई है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement