NDTV Khabar

लालू यादव से मुलाकात पर रोक लगने से आग-बबूला हुईं राबड़ी देवी, सरकार को दी यह चेतावनी

रांची की बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल के अधीक्षक ने एक आदेश जारी कर 20 अप्रैल को लालू यादव से लोगों के मिलने पर प्रतिबंध लगा दिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव से मुलाकात पर रोक लगने से आग-बबूला हुईं राबड़ी देवी, सरकार को दी यह चेतावनी

लालू यादव से मुलाकात पर रोक लगने पर उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई.

खास बातें

  1. विधि-व्यवस्था की समस्या को लेकर जेल प्रशासन ने लगाई रोक
  2. नियम के अनुसार हर शनिवार को मिल सकते हैं तीन व्यक्ति
  3. राबड़ी ने कहा- अगर गरीब-गुरबा सड़क पर उतर गया तो अंजाम बुरा होगा
पटना:

अस्पताल में इलाज करा रहे राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से मुलाकात पर आज रोक लगा दी गई. रांची की बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल के अधीक्षक ने एक आदेश जारी कर 20 अप्रैल को लालू यादव से लोगों के मिलने पर प्रतिबंध लगा दिया. इस पर बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए बीजेपी (BJP) सरकार को चेतावनी दी है.      

रांची की बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल के अधीक्षक ने आदेश में लिखा है कि 'एतद् द्वारा सूचित किया जाता है कि विधि-व्यवस्था की समस्या को देखते हुए आज दिनांक 20.04.2019 को सजायाफ्ता बंदी श्री लालू प्रसाद यादव का मुलाकात बंद रहेगा.' सामान्य तौर पर प्रत्येक शनिवार को लोग लालू प्रसाद से मुलाकात कर सकते हैं लेकिन इस बार उन्हें किसी से मिलने की इजाजत नहीं दी गई है.

जेल अधीक्षक के उक्त आदेश के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने नाराजगी जताई और सरकार को चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि 'अस्पताल में उपचाराधीन आदरणीय लालू जी विधि सम्मत हर शनिवार तीन व्यक्तियों से मिल सकते हैं लेकिन तानाशाही भाजपाई सरकार ने इस पर भी रोक लगा दी है. मेरे बेटे को भी नहीं मिलने दिया. ये जहरीले लोग लालू जी के साथ साज़िश कर उन्हें गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं. उनकी जान को खतरा है‬. अगर गरीब-गुरबा सड़क पर उतर गया तो अंजाम बुरा होगा.'


सुशील मोदी का दावा: लालू ने नीतीश का 'इलाज' करने के बदले जेटली से मांगी थी चारा घोटाले से बचाने की मदद

1vqpgi5

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव को नौ सौ करोड़ रूपए से अधिक के चारा घोटाले से संबंधित तीन मामलों में दोषी ठहराया जा चुका है. ये मामले 1990 के दशक में, जब झारखंड बिहार का हिस्सा था. यह धोखे से पशुपालन विभाग के खजाने से धन निकालने से संबंधित हैं. लालू प्रसाद ने उच्च न्यायालय में जमानत के लिए अपनी उम्र और गिरते स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि वह मधुमेह, रक्तचाप और कई अन्य बीमारियों से जूझ रहे हैं और उन्हें चारा घोटाले से संबंधित एक मामले में पहले ही जमानत मिल गई थी.

VIDEO : लालू को सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी जमानत

टिप्पणियां

राजद सुप्रीमो को झारखंड में स्थित देवघर, दुमका और चाईबासा के दो कोषागारों से छल से धन निकालने के अपराध में दोषी ठहराया गया है. इस समय उन पर दोरांदा कोषागार से धन निकाले जाने से संबंधित मामले में मुकदमा चल रहा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement