NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर: पत्रकार शुजात बुखारी का हत्यारा आतंकी नवीद जट्ट एनकाउंटर में ढेर, सेना ने एक और आतंकी मार गिराया

'राइजिंग कश्मीर' अखबार के संपादक शुजात बुखारी की हत्या करने वाले आतंकियों में नवीद जट्ट शामिल था. एफआईआर में नवीद जट्ट का नाम है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर: पत्रकार शुजात बुखारी का हत्यारा आतंकी नवीद जट्ट एनकाउंटर में ढेर, सेना ने एक और आतंकी मार गिराया

शुजात बुखारी का हत्यारा और लश्कर आतंकी नवीद जट्ट

खास बातें

  1. लश्कर का आतंकी था नवीद जट्ट
  2. सेना ने मार गिराया एक और आतंकी
  3. सुरक्षाबलों के तीन जवान जख्मी
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर के बडगाम में सेना ने पत्रकार शुजात बुखारी के हत्यारे नवीद जट्ट को बुधवार को मार गिराया है. इसके साथ ही सुरक्षाबलों ने एक अन्य आतंकी को भी ढेर कर दिया है. नवीद जट्ट ने ही 'राइजिंग कश्मीर' अखबार के संपादक शुजात बुखारी की हत्या की थी. बुधवार सुबह पुलिस को सूचना मिली थी कि इलाके में दो-तीन आतंकी छुपे हुए हैं. इसके बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान शुरू किया था. आतंकियों के जिन दो घरों में छुपे होने की आशंका थी, उन्हें सुरक्षाबलों ने उड़ा दिया.

एनकाउंटर में सुरक्षाबलों के तीन जवान भी जख्मी हो गए हैं. सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में दो आतंकियों को ढेर कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक मारे गए आतंकियों में नवीद जट्ट भी शामिल है. हालांकि, अभी नवीद जट्ट के शामिल होने की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.


बता दें, श्रीनगर में वरिष्ठ पत्रकार एवं 'राइजिंग कश्मीर' के संपादक शुजात बुखारी और उनके पीएसओ की जून महीने में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हमलावरों ने शुजात बुखारी के कार्यालय के बाहर ही उनपर हमला कर दिया था. हमला उस समय हुआ जब वह अपने दफ्तर से इफ्तार पार्टी के लिए निकल रहे थे. शुजात बुखारी की हत्या पर काफी बवाल हुआ था. शुजात बुखारी को साल 2000 में उन पर हुए हमले के बाद सुरक्षा मुहैया करवाई गई थी. 

शुजात बुखारी का हत्यारा लश्कर का नवीद आतंकी के जनाजे में बंदूक से सलामी देते आया नजर


शुजात बुखारी की हत्या के बाद नवीद कई नजर आया था, लेकिन सुरक्षाबल उसे पकड़ने में नाकाम रहे थे. एक बार वह श्रीनगर के बटमालू इलाके में सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में भी घिर गया था, लेकिन वह वहां से भी बच निकलने में कामयाब रहा. हालांकि, इस नवीद जट्ट के होने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी. वहीं अगस्त महीने में वह उस आतंकी के अंतिम संस्कार में शामिल हुआ था, जो शोपियां जिले में सुरक्षाबलों के साथ एक मुठभेड़ में मारा गया था. वकार अहमद शेख नाम के आतंकी को शोपियां में एक ऑपरेशऩ के दौरान सुरक्षाबलों ने मार गिराया था. शोपियां के मलिकगुंड गांव में वकार अहमद शेख के अंतिम संस्कार में जट द्वारा उसे बंदूक से सलामी देने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर नजर आई थीं.

हत्या के चंद घंटे पहले तक पत्रकारिता एवं मानवाधिकार का बचाव करते रहे शुजात बुखारी

बता दें, नवीद जट्ट वही आतंकी है, जो फरवरी में अस्पताल में इलाज के दौरान पुलिस हिरासत से नाटकीय तरीके से फरार हुआ था. नवीद लश्कर ए तैयबा का वांछित आतंकवादी है. 

टिप्पणियां

'शांति' और 'संवाद' की हिमायत करने वाले शुजात बुखारी आखिर क्यों थे निशाने पर, 10 बड़ी बातें

कश्मीर में NSG का क्या काम?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement