NDTV Khabar

कर्नाटक में जारी सियासी उठापटक पर कुमार विश्वास का तंज, 'खूंटामुक्त गधों की खरीद-फ़रोख़्त को...'

कर्नाटक (Karnataka Crisis) में जारी सियासी संकट के बीच कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishvas) ने ट्वीट किया, 'खूंटामुक्त गधों की खरीद-फ़रोख़्त को 'Horse Trading' कहना ठीक नहीं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक में जारी सियासी उठापटक पर कुमार विश्वास का तंज, 'खूंटामुक्त गधों की खरीद-फ़रोख़्त को...'

कुमार विश्वास ने कर्नाटक में जारी सियासी संकट पर ली चुटकी.

खास बातें

  1. कर्नाटक में जारी है सियासी संकट
  2. कुमार विश्वास ने ट्वीट कर ली चुटकी
  3. 'खूंटामुक्त गधों की खरीद-फ़रोख़्त को हॉर्स ट्रेडिंग कहना ठीक नहीं'
नई दिल्ली:

कर्नाटक (Karnataka Crisis) में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार को बचाने की कवायद जारी है. लगातार बागी विधायकों को मनाने की कोशिशें हो रही हैं. दरअसल, राज्य की गठबंधन सरकार को समर्थन दे रहे जेडीएस-कांग्रेस के 16 विधायकों के इस्तीफे के बाद राज्य में सियासी संकट खड़ा हो गया है. इसके बाद से ही उठा-पटक जारी है. इस बीच कांग्रेस-जेडीएस के बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए. सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों ने कहा कि वह मामले की सुनवाई आज या कल चाहते है. मामले की सुनवाई के दौरान बागी विधायकों की तरफ से वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि स्पीकर अपने दायित्य का पालन नहीं कर रहे है. कर्नाटक में इस समय अजीब परिस्थिति है. हमें जनता के पास दोबारा भी जाना है. सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों ने कहा कि वो मामले की सुनवाई आज या कल चाहते है. चीफ जस्टिस ने कहा कि हम देखेंगे कि कब सुना जाए. इस बीच मामले पर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishvas) ने ट्वीट कर तंज कसा है. कुमार विश्वास ने ट्वीट किया, 'खूंटामुक्त गधों की खरीद-फ़रोख़्त को 'Horse Trading' कहना ठीक नहीं. 


बता दें कि इससे पहले पर कुमार विश्वास (Dr Kumar Vishvas) ने एक दोहा के जरिये कर्नाटक की मौजूदा सियासी स्थिति पर चुटकी ली थी. कुमार विश्वास ( Kumar Vishvas) ने जो दोहा ट्वीट किया था वो कुछ यूं है- 'देव हंसैं सब आपस में विधि के परपंच न कोउ निहारे, बेटा भयो बसुदेव के धाम औ दुंदुभि बाजत नंद के द्वारे!'. 

कर्नाटक में बीजेपी की सरकार बनाने पर बोले येदियुरप्पा- अभी इंतजार करो

टिप्पणियां

बता दें राज्‍य विधानसभा के चुनाव में बीजेपी ने 104 सीटें जीतीं और बहुमत से मात्र 9 सीटें दूर रह गई थी.  इस दौरान कांग्रेस ने 80 सीटें और जेडीएस को 37 सीटें मिली थीं. 17 मई 2018 को बीजेपी के नेता बीएस येदियुरप्‍पा ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था और मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली थी. हालांकि बहुमत साबित न कर पाने के चलते बाद में उन्हें पद छोड़ना पड़ा था और जेडीएस-कांग्रेस ने बाहर से एक बसपा और दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन लेकर सरकार बनाई. 

Video: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: कुमारस्वामी सरकार संकट में



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement