Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Maharashtra Assembly Elections Results 2019: बीजेपी की सीटें हुईं कम, शिवसेना ने याद दिलाया 50-50 का फॉर्मूला

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी शिवसेना गठबंधन ने भले ही 288 सीटों में से बहुमत का आंकड़ा 145 सीटों को पार कर लिया हो लेकिन जो समीकरण बने हैं वह बीजेपी के लिए ठीक नहीं है.

Maharashtra Assembly Elections Results 2019: बीजेपी की सीटें हुईं कम, शिवसेना ने याद दिलाया 50-50 का फॉर्मूला

Maharashtra Assembly Elections Results 2019 : बीजेपी-शिवसेना बहुमत के आंकड़े को पार कर गई है

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में बीजेपी शिवसेना गठबंधन ने भले ही 288 सीटों में से बहुमत का आंकड़ा 145 सीटों को पार कर लिया हो लेकिन जो समीकरण बने हैं वह बीजेपी के लिए ठीक नहीं है. एनडीए को यहां पर 169 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. यहां पर एनडीए को 17 सीटों का  नुकसान हो रहा है. लेकिन बीजेपी को पिछली बार की तुलना में 23 सीटों का नुकसान होता दिखाई दे रहा है तो शिवसेना की सीटें पिछली बार के मुकाबले थोड़ी बढ़ या आसपास दिखाई दे रही है. यानी जिस बीजेपी ने पिछली बार अपने दम पर सरकार बनाई थी उसको अब शिवसेना के बगैर सत्ता हासिल नहीं हो सकती है. हालात को देखते हुए शिवसेना ने भी अपना बयान बदला है. पार्टी नेता संजय राउत ने कहा, मैं उद्धव जी से मिलमे जा रहा हूं. नंबर इतने भी बुरे नही हैं, ऐसा होता है कभी-कभी. हम गठबंधन के साथ रहेंगे. हम 50-50 फॉर्मूले पर सहमत हुए थे'. संजय राउत के इस बयान का मतलब है कि ढाई साल बीजेपी सत्ता में रहेगी और ढाई साल शिवसेना सरकार चलाएगी.

वहीं बात करें कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन की तो विपक्ष के तौर पर यहां मजबूती आई है. लेकिन कांग्रेस को यहां पर 41  और एनसीपी को 54 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. हालांकि इसकी उम्मीद कम ही थी कि कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन इतना अच्छा प्रदर्शन करेगी. पिछली बार के मुकाबले कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को 100 सीटें मिलते दिखाई दे रही हैं. \

Election Results 2019: महाराष्ट्र और हरियाणा में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चल रहे हैं पीछे​

अन्य खबरें :

चुनाव नतीजों की खबरों के बीच इस बॉलीवुड एक्टर ने उठाया पीएमसी बैंक का मुद्दा, कहा-यह बहुत ही दयनीय स्थिति है

महाराष्ट्र चुनाव परिणाम: रुझानों में कांग्रेस को लगा झटका तो बॉलीवुड एक्टर ने दी सलाह, अगर पार्टी को बचाना है तो...