NDTV Khabar

BJP-शिवसेना की 'दोस्ती' टूटने के बाद मुंबई में BMC के ठेकेदारों पर इनकम टैक्स की रेड

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी उठापटक के बीच मुंबई में BMC से जुड़े ठेकेदारों के 30 ठिकानों पर इनकम टैक्स का छापा पड़ा और 7 का सर्वे किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. BMC से जुड़े ठेकेदारों पर इनकम टैक्स का छापा
  2. इनकम टैक्स को 735 करोड़ की बोगस एंट्री मिली
  3. BMC पर इस वक्त शिवसेना का है कब्ज़ा
मुंबई:

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी उठापटक के बीच मुंबई में BMC से जुड़े ठेकेदारों के 30 ठिकानों पर इनकम टैक्स का छापा पड़ा और 7 का सर्वे किया गया. छापों के दौरान कई तरह की गड़बड़ियां मिली हैं. इनकम टैक्स विभाग के सूत्रों ने NDTV को यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने बताया कि कुल मिलाकर 30 परिसरों पर छापे मारे गए और 6 नवंबर को सात ठिकानों का सर्वे किया गया. इनकम टैक्स को इन ठिकानों पर छापों के दौरान 735 करोड़ रुपये की बोगस एंट्री और फर्जी खर्च के सबूत भी मिले हैं. वर्तमान समय में यह छापेमारी बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि BMC पर इस वक्त शिवसेना का कब्ज़ा है. 227 सदस्यों के सदन में शिवसेना के 94 पार्षद हैं, वहीं, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के 82 कॉरपोरेटर्स हैं.

शिवसेना का BJP पर हमला: 'क्या अमित शाह ने PM मोदी को भी 50:50 फॉर्मूले को लेकर...'


बता दें कि यह रेड ऐसे समय में हुआ है जब हाल ही महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर शिवसेना ने BJP से रिश्ता तोड़ लिया है. दोनों पार्टियों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और उन्हें बहुमत मिला था, लेकिन मुख्यमंत्री पद के मुद्दे पर दोनों दल सरकार नहीं बना सके. शिवेसना ने जोर दिया था कि दोनों दलों के बीच मुख्यमंत्री सहित सत्ता के 50:50 अनुपात में बंटवारे करना तय हुआ था. भाजपा ने हालांकि ऐसा कोई फॉर्मूला तय होने से इंकार किया था. इसके बाद दोनों पार्टियों ने एक दूसरे से किनारा कर लिया. इस घटनाक्रम के बाद केंद्र सरकार में शामिल शिवसेना के एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत ने भी इस्तीफा दे दिया और बीते सोमवार को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया. हालांकि इन सबके बीच वहां सरकार गठन की कोशिशें लगातार जारी है.

शिवसेना पर हिंदुत्व का एजेंडा छोड़ने का दबाव, ऐसा होगा महाराष्ट्र की नई सरकार का स्वरूप

उधर, सरकार बनाने के लिए बनी एनसीपी (NCP) की समन्वय समिति के एक सदस्य ने यह दावा किया कि महाराष्ट्र में 20 दिन के अंदर नई सरकार अस्तित्व में आ सकती है. महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की सरकार के गठन की कोशिशें तेज हो गई हैं. मुंबई में पहली बार तीनो दलों की एक साथ बैठक हुई. महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के गठन के लिए फार्मूलों पर चर्चा जारी है. बुधवार को कांग्रेस (Congress) और एनसीपी के नेताओं की बैठक हुई थी. इसके बाद गुरुवार को इन दोनों दलों के साथ शिवसेना (Shiv Sena) की भी बैठक हुई. तीनों ही पार्टियों के नेताओं ने एक साथ बैठकर सरकार के गठन के फॉर्मूले पर चर्चा की.

महाराष्ट्र के राजनीतिक संकट पर अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- 'शिवसेना ने ऐसी शर्त रखी जो स्वीकार्य नहीं'

टिप्पणियां

मालूम हो कि महाराष्ट्र की 288 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के पास 105, शिवसेना के पास 56 सीटें हैं. वहीं, राकांपा और कांग्रेस के पास क्रमश: 54 और 44 सीटें हैं. 288 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 145 है.

VIDEO: शिवसेना ने ऐसी शर्तें रखीं जो स्वीकार्य नहीं: अमित शाह



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement