लोकसभा की अस्थाई अध्यक्ष बन सकती हैं मेनका गांधी

इस बीच खबर है कि भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी 17वीं लोकसभा में अस्थायी अध्यक्ष (प्रो-टर्म स्पीकर) बन सकती हैं.

लोकसभा की अस्थाई अध्यक्ष बन सकती हैं मेनका गांधी

मेनका गांधी (Maneka Gandhi) लोकसभा की अस्थाई अध्यक्ष बन सकती हैं.

नई दिल्ली :

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ऐतिहासिक जीत के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने पीएम मोदी (PM Modi) को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए 8000 मेहमानों को न्योता दिया गया था. इस बीच खबर है कि भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी 17वीं लोकसभा में अस्थायी अध्यक्ष (प्रो-टर्म स्पीकर) बन सकती हैं. सूत्रों ने बताया कि आठ बार की सांसद मेनका को यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है. इस बार वह उत्तर प्रदेश की सुल्तानपुर लोकसभा सीट से निर्वाचित हुई हैं. मेनका इससे पहले की मोदी सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री थीं.  

अमित शाह ने ली शपथ, मोदी कैबिनेट में निभाएंगे महत्‍वपूर्ण भूमिका 

लोकसभा का अस्थायी अध्यक्ष सदन के नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाता है. उसी के तहत ही लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव भी होता है. आपको बता दें कि पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति भवन में आयोजित भव्य शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी के साथ-साथ राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी, सदानंद गौड़ा, निर्मला सीतारमण, लोजपा प्रमुख राम विलास पासवान, नरेंद्र सिंह तोमर, रविशंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, थावरचंद गहलोत, पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर, उत्तराखंड के पूर्म मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, स्मृति ईरानी, डॉ. हर्षवर्धन, प्रकाश जावड़ेकर, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, मुख्तार अब्बास नकवी, प्रह्लाद जोशी, डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, गिरिराज सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी शपथ ली. इसके अलावा संतोष कुमार गंगवार ने राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर ने भी ली मंत्री पद की शपथ

इसके बाद राव इंद्रजीत सिंह, श्रीपद नाईक (राज्य मंत्री), डॉक्टर जितेंद्र सिंह, किरण रिजीजू, प्रह्लाद सिंह पटेल, आरके सिंह, हरदीप सिंह पुरी, मनसुखलाल मंडाविया, फग्गन सिंह कुलस्ते, अश्निनी कुमार चौबे, अर्जुन राम मेघवाल, वीके सिंह, कृष्णपाल गुर्जर, दादा साहेब दानवे, जी किशन रेड्डी, पुरषोत्तम रुपाला, रामदास अठावले ने भी शपथ ली. बता दें कि लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Cabinet) ने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ लेने से पहले अपनी मंत्रिपरिषद को व्यवस्थित रूप देने के लिए BJP अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के साथ कई दौर की वार्ता की. पीएम मोदी के कैबिनेट में इस बार अनुभव के साथ ही युवा शक्ति पर भी जोर दिया गया है. पीएम मोदी और अमित शाह की बैठक के बाद संभावित मंत्रियों को फोन करके पीएम मोदी से मिलने के लिए बुलाया गया था. (इनपुट- भाषा से भी)