BJP से डरती है कांग्रेस, इसलिए उसे हराना नहीं चाहती: मायावती

मायावती (Mayawati) ने बुधवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. मायावती ने कहा कि कांग्रेस पार्टी BJP से डरी हुई है और यही सच है. मायावती ने कहा कि यही वजह है कि कांग्रेस मुस्लिमों को टिकट देने से भी परहेज कर रही है.

BJP से डरती है कांग्रेस, इसलिए उसे हराना नहीं चाहती: मायावती

Mayawati: बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना.

खास बातें

  • 'कांग्रेस से गठबंधन न होने के लिए दिग्विजय ज़िम्मेदार'
  • रस्सी जल गई पर कांग्रेस का बल नहीं गया: मायावती
  • मध्यप्रदेश और राजस्थान में बीएसपी अकेले लड़ेगी
नई दिल्ली:

बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने बुधवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. बसपा प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी से डरी हुई है और यही सच है. मायावती ने कहा कि यही वजह है कि कांग्रेस पार्टी मुस्लिमों को टिकट देने से भी परहेज कर रही है. बसपा प्रमुख ने कहा कि हम हमेशा से बीजेपी को सत्ता से बाहर रखना चाहते हैं, यही वजह है कि हमने क्षेत्रीय पार्टियों के साथ गठबंधन किया. अब राजस्थान और मध्य प्रदेश में मुझे लगता है कि कांग्रेस का इरादा बीजेपी को हराने की नहीं है, बल्कि वह उनके साथ दोस्ती रखने वाली पार्टियों को ही हानि पहुंचाना चाहती है. मायावती ने कहा कि कांग्रेस बीजेपी को हराना नहीं चाहती, बल्कि अपने पार्टनर्स को ही हराना चाहती है. उन्होंने कहा कि राजस्थान और मध्य प्रदेश में या तो हम क्षेत्रीय पार्टियों के साथ गठबंधन करेंगे या फिर अकेल चुनाव लड़ेंगे, मगर कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेंगे.

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश की सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ेगी BSP, 22 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी

कांग्रेस से नाराज चल रहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने गठबंधन न होने के लिए दिग्विजय सिंह पर भी ठीकरा फोड़ा. बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गठबंधन चाहते थे. मगर दिग्विजय सिंह और कई नेता गठबंधन के खिलाफ थे. वे नहीं चाहते थे कि हमारे बीच गठबंधन हो. मायावती ने कहा कि कांग्रेस बसपा की पहचान को खत्म करना चाहती है. दिग्विजय सिंह और कुछ अन्य नेता नहीं चाहते थे कि बसपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन हो. कांग्रेस जातिवादी पार्टी है.

यह भी पढ़ें : बसपा मुखिया मायावती ने कांग्रेस को क्यों दिया डबल झटका, क्या यूपी के इस नेता ने बिगाड़ा 'खेल'

कांग्रेस पार्टी पर हमला करते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस पार्टी गठबंधन की आड़ में बीएसपी को समाप्त करना चाहती है. बीएसपी और कांग्रेस में गठबंधन न होने पाए इसके पीछे दिग्विजय सिंह का निजी स्वार्थ शामिल है. मायावती ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की रस्सी जल गई, मगर बल नहीं गया. कांग्रेस ने गुजरात से कुछ सबक नहीं लिया.

यह भी पढ़ें :  महागठबंधन के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कही यह बात...

मायावती ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी दोनों आने वाले विधानसभा चुनावों और लोकसभा चुनावों के लिए बसपा के साथ गठबंधन चाहते थे. मगर यह दुख की बात है कि कांग्रेस पार्टी में दिग्विजय सिंह और अन्य नेताओं ने केंद्रीय जांच एजेंसी मसलन सीबीआई की डर से ऐसा नहीं होने दिया. वे किसी भी कीमत पर हमारे बीच में कोई चुनावी गठजोड़ नहीं चाहते. मायावती ने कहा कि दिग्विजय सिंह भाजपा के एजेंट हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : मायावती ने दिया महागठबंधन को झटका

मायावती ने आगे कहा कि यह हैरान करने वाली बात है कि कांग्रेस का ये नेता (दिग्विजय सिंह) जो कि बीजेपी का एजेंट है वह टीवी पर बसपा प्रमुख का नाम लेकर कहते हैं कि मायावती केंद्र सरकार के दवाब में गठबंधन नहीं करना चाहती. जो कि यह पूरी तरह से झूठ है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को बीएसपी के संघर्ष के बारे में जानकारी नहीं है उन्हें बीएसपी के इतिहास को पढ़ने की जरूरत है. सच यह है कि कांग्रेस पार्टी बसपा को और इसके अस्तित्व को खत्म करना चाहती है.