NDTV Khabar

मेघालयः जब राज्यपाल विधानसभा में भाषण देने पहुंचे तो विपक्षी नेताओं की खाली मिलीं कुर्सियां

मेघालय विधानसभा के बजट सेशन के पहले ही दिन एक अप्रत्याशित दृश्य दिखाई दिया. जब राज्यपाल तथागत रॉय संबोधन करने पहुंचे तो विपक्षी  विधायको की कुर्सियां खाली मिलीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मेघालयः जब राज्यपाल विधानसभा में भाषण देने पहुंचे तो विपक्षी नेताओं की खाली मिलीं कुर्सियां

मेघालय के राज्यपाल पहुंचे विधानसभा तो खाली मिलीं विपक्षी नेताओं की कुर्सियां.

नई दिल्ली:

मेघालय विधानसभा के बजट सेशन के पहले ही दिन एक अप्रत्याशित दृश्य दिखाई दिया. जब राज्यपाल तथागत रॉय(Tathagata Roy) संबोधन करने पहुंचे तो विपक्षी  विधायको की कुर्सियां खाली मिलीं. दरअसल कांग्रेस विधायकों ने  राज्यपाल तथागत रॉय के भाषण का बहिष्कार कर दिया. मसला मेघालय के राज्यपाल के पिछले महीने किए उस विवादित ट्वीट का विरोध करना था, जिसमें पुलवामा में 40 सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने की घटना पर कश्मीर और कश्मीरी सामानों का बहिष्कार करन की बात कही थी. दरअसल उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था- भारतीय सेना के एक रिटायर्ड कर्नल की अपील है- अगले दो साल तक न कश्मीर जाइए और न ही अमरनाथ. ठंड के मौसम में आने वाले कश्मीरी व्यापारियों से कोई समान मत खरीदिए. कश्मीर की हर चीज का बहिष्कार कीजिए.

यह भी पढ़ें- पुलवामा हमले के बाद बोले मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय: कश्मीर से जुड़ी हर चीज का करें बहिष्कार


पुलवामा की घटना के बाद किया राज्यपाल का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. जिसके बाद उनकी आलोचना शुरू हो गई.  लोगों ने राज्यपाल पर कार्रवाई की मांग शुरू कर दी. पुलवामा हमले के बाद कश्मीरी लोगों के साथ हिंसा और उनको अलग-थलग करने की कई घटनाओं के बीच इस बयान ने सबको हैरान कर दिया है. खुद मोदी सरकार के सहयोगी अकाली दल ने केंद्र से तत्काल राज्यपाल को हटाने की मांग की थी.

टिप्पणियां

वीडियो- ट्वीट पर घिरे मेघालय के राज्‍यपाल तथागत राय



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement