NDTV Khabar

वाहनों की खेप भेजने के लिए जलमार्गों को अपनाएं ऑटोमोबाइल कंपनियां : नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वाहन बनाने कंपनियों से अपील की है कि वे अपने वाहनों की खेप को दूसरी जगहों तक भेजने के लिए तटीय जलमार्गों का इस्तेमाल करें.

150 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
वाहनों की खेप भेजने के लिए जलमार्गों को अपनाएं ऑटोमोबाइल कंपनियां : नितिन गडकरी

नितिन गडकरी की फाइल तस्वीर

चेन्नई: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वाहन बनाने कंपनियों से अपील की है कि वे अपने वाहनों की खेप को दूसरी जगहों तक भेजने के लिए तटीय जलमार्गों का इस्तेमाल करें. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री गडकरी ने चेन्नई में अशोक लैलेंड के ट्रकों के जलमार्ग के जरिये बांग्लादेश को निर्यात की शुरुआत की. मंत्री ने कहा कि सड़क के जरिये परिवहन महंगा है और इससे पर्यावरण प्रदूषण भी होता है तथा दुर्घटनाओं का जोखिम भी रहता है.

यह भी पढ़ें: बंदरगाहों के आधुनिकीकरण का खाका तैयार, 90,000 करोड़ रुपये की विस्तार परियोजनाएं : गडकरी

गडकरी ने कहा, 'यही कारण है कि हमने जलमार्गों और तटीय परिवहन का इस्तेमाल करने का फैसला किया है. इससे लागत घटेगी, समय बचेगा. यह पर्यावरण के लिए भी अच्छा है.' उन्होंने नागपुर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कार्यक्रम को संबोधित किया. उन्होंने कहा, 'मैं सभी आटोमोबाइल विनिर्मातओं से अपील करता हूं कि वे अपने वाहनों की खेप को जगह जगह पहुंचाने के लिए यथासंभव जलमार्गों का उपयोग करें.'

VIDEO : बड़े सुधारों में शुरुआती परेशानी आती ही हैै : गडकरी
मंत्री ने वहीं से अशोक लैलेंड के 185 ट्रकों की खेप को चेन्नई बंदरगाह से बांग्लादेश के मोंगला बंदरगाह के लिए रवाना किया. यह खेप ‘रोरो’ के जरिये भेजी जा रही है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement