महाराष्ट्र में सरकार गठन को 13 दिन बीतने के बाद भी नहीं हो सका विभागों का बंटवारा, सामने आई यह वजह

Maharashtra News: महाराष्ट्र में सरकार गठन को 13 दिन बीत गए लेकिन अब तक विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है. खबर है कि गृह विभाग को लेकर पेच फंसा है.

महाराष्ट्र में सरकार गठन को 13 दिन बीतने के बाद भी नहीं हो सका विभागों का बंटवारा, सामने आई यह वजह

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • महाराष्ट्र में अब तक नहीं हो सका है विभागों का बंटवारा
  • गृह विभाग को लेकर सहमति नहीं बन पाना है वजह
  • 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी उद्धव ने
मुंबई:

महाराष्ट्र में सरकार गठन को 13 दिन बीत गए लेकिन अब तक विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने 28 नवंबर को शिवाजी पार्क पर बड़े ही धूमधाम से शपथ ली थी. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ 6 मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई पर मंत्री अब तक बिना विभाग के हैं. खबर है कि गृह विभाग को लेकर पेच फंसा है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की तरह गृह विभाग अपने पास रखना चाहते हैं, लेकिन एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) इस पर राजी नहीं हैं, लिहाजा बीजेपी (BJP) को बोलने का मौका मिल गया है.

Uddhav Thackeray Oath Ceremony : उद्धव ठाकरे बने महाराष्ट्र के CM, छह कैबिनेट मंत्रियों ने भी ली शपथ

बता दें कि 'महा विकास आघाड़ी' सरकार के मंत्रियों को विभागों का आवंटन करने पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार शाम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से NCP प्रमुख शरद पवार ने मुलाकात की थी. बैठक नेहरू सेंटर में हुई, जिसमें शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे, संजय राउत और सुभाष देसाई तथा NCP से अजित पवार और जयंत पाटिल ने शिरकत की थी. सूत्रों  ने बताया कि पवार ने शपथ ले चुके मंत्रियों को जल्द से जल्द विभाग आवंटित करने पर जोर दिया. इन मंत्रियों ने 28 नवंबर को ठाकरे के साथ शपथ ली थी.

देवेंद्र फडणवीस का दावा- अजित पवार ने किया था सरकार बनाने के लिए संपर्क, विधायकों से करवाई थी बात

Newsbeep

बता दें कि महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी (Shiv Sena-Congress-NCP) की 'महा विकास अघाड़ी' के नेता के रूप में उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उद्धव ठाकरे के साथ-साथ तीनों पार्टियों के छह नेताओं ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. इनमें शिवसेना के कोटे से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, NCP के कोटे से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस के कोटे से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत शामिल हैं. तीनों पार्टियों के गठबंधन को 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' नाम दिया गया है. तीनों दलों के बीच कई दौर की बैठकों के बाद यह तय किया गया था कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे होंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: Exclusive: शरद पवार ने कैसे पलटा महाराष्‍ट्र का गेम