NDTV Khabar

अरहर की दाल के बढ़ते दामों पर सरकार ने लिए कई फैसले, यहां जानिए पूरा मामला

अरहर दाल के आयात पर 2 लाख टन की मौजूदा सीमा को बढाकर 4 लाख टन करने का फैसला हुआ. वहीं दो लाख टन अरहर दाल आयात की जाएगी. यह फैसला चार जून को किया गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरहर की दाल के बढ़ते दामों पर सरकार ने लिए कई फैसले, यहां जानिए पूरा मामला

खास बातें

  1. आयात पर 2 लाख टन की मौजूदा सीमा को बढाकर 4 लाख टन किया गया
  2. दो लाख टन अरहर दाल के इंपोर्ट के लिए 10 दिनों के अंदर मिलेंगे लाइसेंस
  3. कुल मिलाकर 39 लाख टन दालें सरकार के पास उपलब्ध हैं
नई दिल्ली:

केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने उपभोक्ता मामलों के सचिव, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण एवं सचिव कृषि और किसान कल्याण विभाग और संयुक्त सचिव के साथ लगभग दो घंटे तक बैठक की. इस बैठक में बफर स्टॉक से 2 लाख टन अरहर दाल को खुले बाजार में जल्दी जारी करने का फैसला किया गया. अरहर दाल के आयात पर 2 लाख टन की मौजूदा सीमा को बढाकर 4 लाख टन करने का फैसला हुआ. वहीं दो लाख टन अरहर दाल आयात की जाएगी. यह फैसला चार जून को किया गया था. 

टिप्पणियां

इफ्तार पार्टी में दिखे नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, सुशील मोदी तो गिरिराज सिंह बोले- इतनी ही चाहत से नवरात्रि पर...


दो लाख टन अरहर दाल के इंपोर्ट के लिए प्राप्त आवेदनों पर 10 दिनों के अंदर लाइसेंस जारी कर दिए जाएंगे और भारत-मोजाम्बिक के बीच G2G करार के तहत इस साल 1.75 लाख टन अरहर दाल का आयात होगा. सरकार के पास दालों का 11.53 लाख टन बफर स्टॉक है. इसके अलावा 27.32 लाख टन दालों का भंडार नेफेड के पास PSS योजना के तहत है. कुल मिलाकर 39 लाख टन दालें सरकार के पास उपलब्ध हैं. जमाखोरों और सट्टेबाज़ों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए पासवान जल्दी ही सभी राज्यों के उपभोक्ता मामलों के मंत्रियों को पत्र लिखेंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement