NDTV Khabar

झारखंड चुनावः विपक्ष 'महागठबंधन' बनाने में जुटा, बाबूलाल मरांडी को मनाने की कोशिशें तेज

झाविमो के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं दिए जाने का आरोप लगाते हुए सभी सीटों पर लड़ने की घोषणा कर दी है, जिसके बाद उन्हें मनाने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड चुनावः विपक्ष 'महागठबंधन' बनाने में जुटा, बाबूलाल मरांडी को मनाने की कोशिशें तेज

झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सभी प्रमुख विपक्षी पार्टियां महागठबंधन के प्रयास में जुट गई हैं
  2. महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं दिए जाने नाराज हुए बाबूलाल
  3. हिरासत में बंद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से मिले थे हेमंत सोरेना
रांची:

झारखंड में विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद झामुमो के नेतृत्व में भाजपा विरोधी सभी प्रमुख विपक्षी पार्टियां महागठबंधन के प्रयास में जुट गई हैं. बता दें, विपक्षी दलों के इस महागठबंधन में बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) को शामिल करने की भी कोशिशें हो रही हैं. वहीं झाविमो के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं दिए जाने का आरोप लगाते हुए सभी सीटों पर लड़ने की घोषणा कर दी है, जिसके बाद उन्हें मनाने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं.

झारखंड: चुनाव आयुक्त के इस बयान का इस्तेमाल CM रघुवर दास को घेरने के लिए कर रहा है विपक्ष

दूसरी ओर झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के प्रवक्ता और महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि झामुमो का पूरा प्रयास है कि अन्य विपक्षी दलों कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल एवं वामपंथी दलों के साथ बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा भी भाजपा के खिलाफ महागठबंधन में शामिल हो. हालांकि झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के अनेक बार प्रयास के बावजूद मरांडी से संपर्क नहीं हो सका है. उन्होंने कहा कि अब महागठबंधन सहयोगी कांग्रेस को बाबूलाल मरांडी से संपर्क करने को कहा गया है. इसके साथ ही सुप्रियो ने कहा कि बाबूलाल मरांडी बहुत परिपक्व एवं वरिष्ठ नेता हैं और गठबंधन बनाने के लिए उन्हें कुछ त्याग करने के लिए तैयार होना चाहिए. सुप्रियो ने कहा कि उनकी पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक छह नवंबर को है जिसमें पार्टी के उम्मीदवारों की पहली सूची तय की जाएगी और वह आठ नवंबर को जारी कर दी जाएगी.


भाजपा झारखंड में एनआरसी, धर्मांतरण और विकास को मुद्दा बनाएगी

इस बीच कांग्रेस के झारखंड प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने दोहराया कि राज्य में महागठबंधन के लिए बातचीत अंतिम दौर में है और सात-आठ नवंबर तक इसका स्वरूप तय कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि इस महागठबंधन में झामुमो, राजद एवं वामपंथी दलों के अलावा बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा भी शामिल हो. समझा जाता है कि महागठबंधन में शामिल दलों में लड़ने वाली सीटों की हिस्सेदारी तय हो गई है. यहां महागठबंधन में झाविमो के शामिल होने की स्थिति में जहां झामुमो 35 से 40 सीटों पर चुनाव लड़ेगा वहीं कांग्रेस 25 से 30 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है. शेष 20 से 25 सीटों में पांच से सात सीटों पर लालू प्रसाद यादव की राजद और अन्य पर झाविमो एवं वामपंथी दल चुनाव लड़ेंगे. 

CM रघुबर दास के ट्वीट पर हेमंत सोरेन का हमला, बोले- एक बार सड़क से अपने विधानसभा क्षेत्र चले जाएं...

टिप्पणियां

बता दें, महागठबंधन को अंतिम रूप देने के लिए ही झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन दो दिनों पूर्व न्यायिक हिरासत में बंद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से मिले थे. झारखंड में 81 सदस्यीय विधानसभा के लिए चुनाव पांच चरण में होंगे. मतदान का पहला दौर 30 नवंबर को और अंतिम तथा पांचवां चरण 20 दिसंबर को होगा. मतगणना 23 दिसंबर को होगी. 

Video: क्या कहता है झारखंड के पिछले चुनाव का गणित?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement