NDTV Khabar

पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौती या भद्दा मज़ाक?

आसमान छूतीं पेट्रोलियम की कीमतों को लेकर लोगों की लगातार गुहार के बाद सिर्फ एक पैसे की कटौती की गई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौती या भद्दा मज़ाक?

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. इंडियन ऑयल ने इसे तकनीकी गड़बड़ी बताया और कुछ घंटे बाद रेट बदले
  2. पेट्रोलियम मंत्री ने माना कि इंडियन आयल के अधिकारी से गलती हुई
  3. राहुल गांधी ने एक पैसे की कटौती पर तीखा ट्वीट किया
नई दिल्ली: पेट्रोल डीजल के दाम में लगातार सोलह दिन बढ़ोतरी के बाद बुधवार को राहत मिली- लेकिन किसी मज़ाक की तरह. लोगों की लगातार गुहार के बाद सिर्फ एक पैसे की कटौती. सरकार ने फिर साफ़ कर दिया कि या तो लोग सस्ता पेट्रोल ले लें या फिर विकास होने दें.

बुधवार सुबह छह बजे इंडियन आयल ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि पेट्रोल की क़ीमत 60 पैसे घट रही है और डीज़ल की 56 पैसे. लेकिन ये ऐलान क्रूर मज़ाक निकला. क्योंकि पंप मालिकों से सुबह ही कह दिया गया था कि वे पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में सिर्फ एक पैसे की कटौती करें. बाद में इंडियन ऑयल ने इसे तकनीकी गड़बड़ी बताया और वेबसाइट पर कुछ घंटे बाद रेट बदल दिए.

मुश्किल ये है कि इंडियन आयल को ये समझने में कुछ घंटे लग गए कि उनकी वेबसाइट पर जो पेट्रोल-डीज़ल की कीमत उन्होंने दिखाई थी वो पेट्रोल पंप मालिकों को भेजी गई जानकारी से अलग थी इसकी वजह से पंपों पर काफी मुश्किल लोगों को झेलनी पड़ी. कई पेट्रोल पंपों पर लोग तनाव में दिखे और पंप मालिकों से बहस करते दिखे कि इंडिया आयल की वेबसाइट और उनके पंप में पेट्रोल-डीज़ल
के दाम अलग-अलग क्यों थे.

यह भी पढ़ें : पेट्रोल के दाम में 1 पैसे की कटौती को प्रकाश राज ने बताया नौटंकी, ट्वीट कर कही ये बात...

पूर्व पेट्रोलियम सचिव एससी त्रिपाठी ने एनडीटीवी से कहा, "पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में सिर्फ एक पैसे की कटौती एक मज़ाक की बात है. हर रोज़ तेल की कीमतें बदलने की मौजूदा व्यवस्था सही नहीं है उसमें बदलवा होना चाहिए...केंद्र और राज्य सरकारों को पेट्रोल-डीज़ल पर एक्साइज़ ड्यूटी और वैट घटाना चाहिए."

राहुल गांधी ने भी एक पैसे की इस कटौती पर तीखा ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, प्रिय प्रधानमंत्री जी, आपने आज पेट्रोल-डीज़ल के दाम एक पैसा घटा दिए. एक पैसा? अगर ये आपका मज़ाक है तो बचकाना है और अरुचिकर है. पुन: बीते हफ़्ते मैंने जो फ़्यूल चैलेंज आपको दिया था, एक पैसे की कटौती उसका माकूल जवाब नहीं है.

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने माना कि इंडियन आयल के एक अधिकारी से गलती हुई जिस वजह से इंडियन आयल की वेबसाइट और पेट्रोल पंपों पर कुछ घंटों तक अलग-अलग दाम रहे. लेकिन साथ ही ये साफ भी किया कि इससे पहल भी हर रोज़ कीमत में बदलाव करने की व्यवस्था में पहले भी एक पैसा कीमतों में बदलाव किया गया है.

टिप्पणियां
VIDEO : पेट्रोल की कीमतों पर घमासान

दिलचस्प ये है कि इन 16 दिनों में कच्चा तेल 4 फ़ीसदी सस्ता हुआ है. लेकिन अंतरराष्ट्रीय क़ीमतों के आधार पर रोज़ तेल के दाम तय करने वाले फ़ार्मूले से बस एक पैसे की कटौती का मज़ाक निकला.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement