NDTV Khabar

नोटबंदी की आलोचना पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी- देशहित में बड़े और सख्त फैसले लेने पड़ते हैं

प्रधानमंत्री ने म्यामां के शहर यंगून में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ऐसे फैसले कर सकी क्योंकि वह देश को राजनीति से बड़ा समझती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी की आलोचना पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी- देशहित में बड़े और सख्त फैसले लेने पड़ते हैं

पीएम नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर दिया बयान

खास बातें

  1. हमारी सरकार देशहित को बड़ा समझती है
  2. बड़े और सख्त फैसले लेने में झिझक नहीं होती
  3. जीएसटी और सर्जिकल स्ट्राइक का किया जिक्र
यंगून:

नोटबंदी की आलोचना होने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकार के इस कदम को उचित ठहराते हुए स्पष्ट कहा कि उनकी सरकार देश के हित में ‘बड़े और सख्त’ फैसले लेने से परहेज नहीं करेगी. प्रधानमंत्री ने म्यामां के शहर यंगून में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ऐसे फैसले कर सकी क्योंकि वह देश को राजनीति से बड़ा समझती है.

पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने जनता को 'पप्पू' बनाया: दिग्विजय

पीएम मोदी ने अपनी सरकार द्वारा किए गए ‘बड़े और सख्त’फैसलों के रूप में 8 नवंबर को घोषित नोटबंदी के अलावा पिछले साल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सर्जिकल हमला और एक जुलाई से लागू जीएसटी का भी जिक्र किया.


पीएम मोदी ने कहा, 'सबका साथ, सबका विकास' के तहत हम म्यांमार का भी सहयोग करेंगे - 10 खास बातें

पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, राष्ट्रीय हित में, हमें बड़े और सख्त फैसले लेने में कोई झिझक नहीं है, क्योंकि हमारे लिए देश राजनीति से ऊपर है। चाहे सर्जिकल हमले हों नोटबंदी हो या जीएसटी, सभी फैसले बिना किसी भय या झिझक के किए गए. नोटबंदी का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह कदम काले धन पर काबू पाने के लिए उठाया गया और इससे ऐसे लाखों लोगों की पहचान करने में मदद मिली जिनके बैंक खातों में करोड़ों रुपये थे, लेकिन वे कभी आयकर नहीं देते थे. उन्होंने कहा कि पिछले तीन महीनों में दो लाख से ज्यादा कंपनियों का पंजीयन रद्द कर दिया गया क्योंकि उनके कालेधन के शोधन में शामिल होने का पता लगा था.

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री ने 35 मिनट के अपने फैसले में कहा, भ्रष्टाचार पर काबू पाने के लिए, हमने 500 और 1000 रुपये के नोटों पर रोक लगाई. कुछ भ्रष्ट लोगों के गलत कार्यों का खामियाजा 125 करोड लोग भुगत रहे थे. यह हमें स्वीकार्य नहीं था. उन्होंने कहा कि इस बारे में कोई सुराग नहीं था कि काला धन कहां से आ रहा था और कहां जा रहा था. नोटबंदी की विपक्षी दलों द्वारा आलोचना की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री ने सरकार के इस कदम को उचित ठहराया. कांग्रेस ने नोटबंदी को पूरी तरह से नाकाम बताते हुए कहा कि इससे भ्रष्ट लोगों को काफी फायदा हुआ.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement