नए सेना प्रमुख की पाकिस्तान को चेतावनी- 'भारत के पास आतंकवाद के स्रोत पर हमला करने का अधिकार'

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General Manoj Mukund Naravane) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि अगर पड़ोसी देश राज्य प्रायोजित आतंकवाद को नहीं रोकता है तो इस स्थिति में भारत के पास आतंक के स्रोत पर हमला करने का अधिकार है.

नए सेना प्रमुख की पाकिस्तान को चेतावनी- 'भारत के पास आतंकवाद के स्रोत पर हमला करने का अधिकार'

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General Manoj Mukund Naravane) ने पाकिस्तान को दिया कड़ा संदेश.

खास बातें

  • जनरल मनोज मुकुंद नरवणे बने नए सेना प्रमुख
  • देश के 28वें सेना प्रमुख का संभाला पदभार
  • सेना प्रमुख ने दी पाकिस्तान को चेतावनी
नई दिल्ली:

जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General Manoj Mukund Naravane) ने मंगलवार को 28वें सेना प्रमुख का पदभार संभाला. लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (MM Naravane) ने जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) से सेना प्रमुख का कार्यभार ग्रहण किया. जनरल रावत को भारत का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) नियुक्त किया गया है. वह बुधवार को CDS का पदभार संभालेंगे. पद संभालने के बाद सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि अगर पड़ोसी देश राज्य प्रायोजित आतंकवाद को नहीं रोकता है तो इस स्थिति में भारत के पास आतंक के स्रोत पर हमला करने का अधिकार है.

जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने थल सेनाध्यक्ष का पदभार संभाला, बने देश के 28वें सेना प्रमुख

सेना प्रमुख का कार्यभार संभालने के बाद नरवाणे ने कहा कि हमने प्रायोजित आतंकवाद के खिलाफ 'दृढ़ संकल्पित दंडात्मक जवाब' की रणनीति बनाई है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना की राज्य प्रायोजित आतंकवाद से ध्यान हटाने की सारी कोशिशें नाकाम हो गई हैं और अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद कश्मीर में हालात सुधरे हैं. सेना प्रमुख ने कहा कि आतंकवादियों के सफाए और आतंकी नेटवर्क की तबाही के कारण पाकिस्तानी सेना के छद्म युद्ध की मंशा को झटका लगा है.

CDS बस एक ओहदा है वो अकेला काम नहीं कर सकता है : जनरल बिपिन रावत

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के मुद्दे से वह कैसे निपटेंगे, इस बारे में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के उकसावे या उसके द्वारा प्रायोजित आतंकवाद के किसी भी कृत्य का जवाब देने के लिए हमारे पास कई सारे विकल्प हैं. चीन के साथ लगी 3500 किलोमीटर की सीमा पर सुरक्षा चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर जनरल नरवाणे ने कहा कि हमने प्राथमिकताओं को फिर से संतुलित करने के तहत पश्चिमी सीमा से उत्तरी सीमा पर ध्यान केंद्रित किया है. हम उत्तरी सीमा के पास क्षमता निर्माण में सुधार करना जारी रखेंगे, ताकि जरूरत पड़ने पर हम तैयार रहें.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे आज संभालेंगे सेना प्रमुख का कार्यभार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि हम समूचे सैन्य तंत्र में जो महत्वपूर्ण सुधार लाना चाहते हैं, सीडीएस निस्संदेह उन बदलावों की राह तैयार करेंगे. सेना प्रमुख ने कहा कि उनका मुख्य ध्यान किसी भी क्षण किसी भी खतरे से निपटने के लिए सेना को तैयार रखना होगा. उन्होंने कहा कि जमीनी स्तर पर सुधार से दक्षता और संचालन तैयारी में सुधार होगा.

VIDEO: जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने नये सेना प्रमुख का कार्यभार संभाला