NDTV Khabar

जीएसटी लागू होने के 15 दिन में ही सरकार के आ गए 'अच्छे दिन', आपके आए क्या ?

जीएसटी लागू होने के 15 दिन बाद जो आंकड़े आए हैं उससे तो लग रहा है कि कम से कम सरकार के अच्छे दिन आ गए हैं.

456 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जीएसटी लागू होने के 15 दिन में ही सरकार के आ गए 'अच्छे दिन', आपके आए क्या ?

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. जून के मुकाबले बढ़ा राजस्व
  2. 15 दिन में ही राजस्व में बढ़ोत्तरी
  3. अक्टूबर में आएंगे पूरे आंकड़े
नई दिल्ली: वस्तु एवं सेवाकर बिल यानी जीएसटीको लागू करने के पीछे सरकार की ओर से दावा किया गया है कि इससे 'अच्छे दिन' आ जाएंगे. जीएसटी लागू होने के 15 दिन बाद जो आंकड़े आए हैं उससे तो लग रहा है कि कम से कम सरकार के अच्छे दिन आ गए हैं. जीएसटी को लेकर किए जा रहे विरोध पर सरकार का शुरू से ही कहना रहा है कि इससे भारत की अर्थव्यवस्था 'एक बाजार' प्रणाली पर आएगी. विकास दर बढ़ेगी और रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे.

15 दिन में बढ़ा राजस्व
जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) लागू होने के बाद राजस्व में कितनी बढ़ोतरी हुई है, इसकी सटीक जानकारी अक्टूबर से पहले नहीं मिल पाएगी, जब नई अप्रत्यक्ष व्यवस्था अपनी पहली तिमाही पूरी करेगी. लेकिन लागू होने के पहले 15 दिनों के आंकड़ों को देखने से पता चलता है कि राजस्व में महीने-दर-महीने आधार पर 11 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. केंद्रीय उत्पाद शुल्क और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) ने यह जानकारी दी है. सीबीईसी ने कहा कि एक जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयात से प्राप्त कुल राजस्व 12,673 करोड़ रुपये रहा, जबकि जून महीने में समान अवधि में यह 11,405 करोड़ रुपये था. 

यह भी पढ़ें : सरकार ने किया साफ : 7,500 रुपये से कम किराये वाले होटल कमरों पर 18% की दर से लगेगा GST

अक्टूबर में आएंगे सही आंकड़े
सीबीईसी की प्रमुख वनजा सरना ने जीएसटी से प्राप्त कुल राजस्व के बारे में कहा कि इसका पहला अनुमान अक्टूबर तक ही मिल पाएगा, क्योंकि व्यापारी सितंबर में रिटर्न दाखिल करेंगे. हालांकि जीएसटी की दरों को 'राजस्व तटस्थ' रखा गया है, ताकि कर की दरें पहले जितनी थीं, उतनी ही रहें। सरना ने कहा कि जरूरी नहीं है कि इससे राजस्व वृद्धि में किसी प्रकार की गिरावट ही आएगी.

यह भी पढ़ेंGST परिषद ने सिगरेट पर सेस बढ़ाया, सरकारी खजाने में आएंगे अतिरिक्त 5000 करोड़ रुपये - 10 खास बातें

व्यापारियों को लाभ का दावा
सीबीईसी की प्रमुख वनजा सरना ने कहा, 'इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ व्यापारियों को मिलेगा, लेकिन कर आधार में बढ़ोतरी से राजस्व को कोई नुकसान नहीं होगा. हालांकि डिजिटीकरण से कर आधार में तेजी से वृद्धि हो रही है, लेकिन अभी इस पर कुछ कहना जल्दबाजी होगी.'

( इनपुट आईएनएस से )
 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement