सलमान खान ने किया खंडन- नहीं लड़ रहा चुनाव, न ही किसी पार्टी के लिए प्रचार करूंगा

मध्यप्रदेश कांग्रेस सलमान खान को इंदौर में अपने प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार में उतारने की कोशिश कर रही थी, ताकि भाजपा का गढ़ मानी जाने वाली इस सीट पर 30 साल बाद जीत दर्ज किया जा सके.

सलमान खान ने किया खंडन- नहीं लड़ रहा चुनाव, न ही किसी पार्टी के लिए प्रचार करूंगा

अभिनेता सलमान खान.

खास बातें

  • सलमान खान ने अफवाहों का किया खंडन
  • लोकसभा चुनाव लड़ने की थी चर्चा
  • कहा- किसी पार्टी के लिए प्रचार भी नहीं करूंगा
नई दिल्ली:

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान (Salman Khan) ने गुरुवार को उन खबरों का खंडन किया है, जिनमें उनके लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) लड़ने की बात कही गई थी. उन्होंने कहा कि वे किसी राजनीतिक पार्टी के लिए चुनाव प्रचार भी नहीं करेंगे. सलमान खान ने ट्वीट करते हुए कहा, 'मैं चुनाव नहीं लड़ रहा हूं और ना ही किसी राजनीतिक पार्टी के लिए प्रचार करूंगा.' बता दें, हालही रिपोर्ट्स आई थीं कि मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सलमान खान से इंदौर में प्रचार करने की गुजारिश की है. 

दरअसल, मध्यप्रदेश कांग्रेस बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को प्रदेश की औद्योगिक राजधानी इंदौर में अपने प्रत्याशी के लिए लोकसभा चुनाव प्रचार में उतारने की कोशिश कर रही थी, ताकि भाजपा का गढ़ मानी जाने वाली इस सीट पर 30 साल बाद जीत दर्ज किया जा सके. सलमान का जन्म इंदौर के पलासिया इलाके में 1965 में हुआ था और मुंबई में शिफ्ट होने से पहले उन्होंने इंदौर शहर में अपने बचपन का काफी समय गुजारा है. 

पीएम नरेंद्र मोदी ने सलमान खान को Tweet में किया टैग तो भाईजान ने यूं दे डाला जवाब

मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने बताया था, ‘हमारे नेता सलमान खान से इंदौर में पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने की पहले ही बातचीत कर चुके हैं.' हालांकि, सलमान  के प्रवक्ता ने इस मामले में प्रतिक्रिया करने से मना कर दिया था. साथ ही चतुर्वेदी ने कहा, ‘सलमान खान ने इंदौर में अपना बचपन बिताया है.' उन्होंने कहा कि सलमान अपनी सभाओं में भारी भीड़ जुटाने वाले व्यक्ति हैं. कांग्रेस के चुनाव प्रचार में उनका योगदान शहर में पार्टी की तकदीर बदलने में सहायक होगा.' 

सलमान खान को इंदौर से चुनाव लड़ाना चाहती है कांग्रेस! कुछ इस तरह मिला इशारा

कांग्रेस ने वर्ष 1984 में हुए लोकसभा चुनाव में इंदौर सीट जीती थी. तब इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश में कांग्रेस की लहर थी, जिसके चलते इंदौर से पार्टी के दिग्गज नेता प्रकाश चंद्र सेठी जीते थे. इस सीट पर पिछले 30 साल से भाजपा का कब्जा है. इस सीट को भाजपा ने 1989 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से छीनी थी और तब से लेकर अब तक इस सीट पर आठ बार चुनाव हुए हैं और आठों बार भाजपा की वरिष्ठ नेता एवं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस के प्रत्याशियों को धूल चटाया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीएम नरेंद्र मोदी ने आमिर खान, सलमान खान को टैग कर किया Tweet तो मिस्टर परफेक्शनिस्ट ने यूं दिया जवाब

यह सीट भाजपा का गढ़ कहलाती है. इससे पहले सलमान इंदौर नगर निगम के लिए कांग्रेस के महापौर के उम्मीदवार पंकज संघवी के लिए भी 2009 में चुनाव प्रचार कर चुके हैं. लेकिन इसके बाद भी संघवी जीत नहीं पाये थे. उस वक्त भाजपा नेता कृष्ण मुरारी मोघे ने उन्हें हराया था. मध्यप्रदेश में लोकसभा की 29 सीटों के लिए मतदान चार चरणों में 29 अप्रैल, 6 मई, 12 मई एवं 19 मई को होंगे. इंदौर में 19 मई को चौथे चरण में मतदान होना है.