जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग होने पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा- लोकतंत्र के साथ मजाक हो रहा है

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वे 2019 लोकसभा चुनाव में लड़ेंगे और भाजपा से निकाले जाने की स्थिति में उनके लिए कई विकल्प हैं.

जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग होने पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा- लोकतंत्र के साथ मजाक हो रहा है

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा.

खास बातें

  • सिन्हा बोले- वे लोकतंत्र के समर्थक रहे हैं.
  • '2019 का लोकसभा चुनाव लडूंगा'
  • 'भाजपा से निकाला गया तो कई विकल्प हैं'
इलाहाबाद:

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने जम्मू-कश्मीर में विधानसभा भंग करने को 'लोकतंत्र का मजाक' बताया है. पटना साहिब से सांसद सिन्हा ने कहा कि यह लोकतंत्र के साथ मजाक हो रहा है. जब उनसे पार्टी के हितों के खिलाफ काम करने का सवाल किया गया तो उनका कहना था कि वे हमेशा लोकतंत्र के समर्थक रहे हैं और देश के हित में बोलते हैं. अगर, पार्टी के लोग इसे गलत समझ लेते हैं तो भी वे ऐसे ही काम करेंगे. साथ ही उन्होंने कहा, 'जहां तक देश की भलाई के लिए काम करने की बात है, तो मैं विद्रोही हूं.'

राम मंदिर से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि वह अयोध्या में राम मंदिर से पहले 'मानवता के मंदिर' को प्राथमिकता देंगे. 'मानवता के मंदिर' को समझाते हुए उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार, किसानों की फसलों के लिए अच्छी कीमतें और देश के लिए शांति ही 'मानवता का मंदिर' है. अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न ने बुधवार को भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को 'वन मैन शो और टू मैन आर्मी' बताया था.

जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल बोले- सरकार बनने का मौका देता तो पहले जैसे हो जाते हालात

उन्होंने यह भी दोहराया कि वे 2019 लोकसभा चुनाव में लड़ेंगे और भाजपा से निकाले जाने की स्थिति में उनके लिए कई विकल्प हैं. उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को 'दरकिनार करने के लिए' भी पार्टी के शीर्ष नेताओं की आलोचना की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

महबूबा मुफ्ती के 'फैक्स' वाले आरोप पर बोले राज्यपाल- कल ईद थी, मुझे कोई खाना देने वाला भी नहीं था

2019 का सेमीफाइनल: बीजेपी और सरकार विवादों में घिरी!