NDTV Khabar

SC ने कार्ति चिदंबरम को दी विदेश जाने की मंजूरी, पर कहा- पहले ED के सामने हों पेश, 10 Cr. रुपये कराएं जमा

सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति को विदेश जाने से पहले 10 करोड़ रुपए कोर्ट में जमा कराने के लिए कहा है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब वह विदेश यात्रा से वापस आ जाएंगे तो उन्हें लौटा दिया जाएगा

181 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. सुप्रीम कोर्ट ने दी विदेश जाने की मंजूरी
  2. टेनिस खेलने के लिए मांगी थी विदेश जाने की मंजूरी
  3. जाने से पहले ईडी के सामने होना होगा पेश
नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram)को विदेश जाने की मंजूरी दे दी है. लेकिन उन्हें यह मंजूरी सशर्त मिली है. कोर्ट ने उनसे कहा कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे है, इसलिए वह 5,6,7 और 12 मार्च को ईडी के सामने पेश हों. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति को विदेश जाने से पहले 10 करोड़ रुपए कोर्ट में जमा कराने के लिए कहा है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब वह विदेश यात्रा से वापस आ जाएंगे तो उन्हें लौटा दिया जाएगा

सीजेआई रंजन गोगोई ने कार्ति के वकील से कहा, 'तुम्हें जहां जाना है जाओ. तुम जो करना चाहते हो करो. लेकिन 5,6,7 और 12 मार्च को यहां पेश हो जाना. अपने क्लाइंट से बता दीजिएगा कि अगर वह जांच में सहयोग नहीं करेंगे तो हम सख्ती बरतेंगे.' सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति से कहा कि तुम सहयोग नहीं कर रहे हो, हम चाहते हैं कि आप खूब बोलें, लेकिन हम कुछ भी नहीं बोलना चाहते. सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम को चेताया भी कि अगर वह सहयोग नहीं करेंगे तो कोर्ट उचित निर्देश जारी करेगी. 

ED ने कहा- जांच में सहयोग नहीं कर रहे कार्ति चिदंबरम तो SC बोला- हमें बताओ आपको कब पूछताछ करनी है


बता दें, कार्ति टेनिस मैच खेलने के विदेश जाने की मंजूरी के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे. INX मीडिया मामले में CBI के रेड कॉर्नर नोटिस के चलते कार्ति को हर बार विदेश जाने से पहले सुप्रीम कोर्ट से इजाज़त लेनी पड़ती है. सोमवार को भी सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम की उस याचिका पर सुनवाई की थी, जिसमें उन्होंने विदेश जाने की इजाजत मांगी थी. इस पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने सुप्रीम कोर्ट में अपना हलफनामा दाखिल किया और चिदंबरम की याचिका का विरोध किया. ईडी ने कहा कि कार्ति चिदंबरम जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं, अगर वह बाहर जाते हैं तो इससे मामले की जांच में देरी होगी. 

कार्ति की याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगर कार्ति जांच से बचने की कोशिश करते हैं तो टेनिस के लिए विदेश जाने की इजाजत नहीं मिलेगी. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ईडी से कहा कि 'वो सुप्रीम कोर्ट में वो तारीख बताए, जिस दिन पूछताछ के लिए कार्ति की जरूरत है. कोर्ट ये सुनिश्चित करेगा कि कार्ति जांच में भी सहयोग करे और विदेश भी जा सके.' 

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को झटका, एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में चलेगा मुकदमा

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए अपने हलफनामे में ईडी ने कहा था, 'कार्ति 6 महीने में 51 दिन विदेश में रहे. वह अपनी आजादी का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं. INX और एयरसेल मैक्सिस मामले में जांच पूरी करने के लिए कार्ति से पूछताछ जरूरी है. कार्ति को विदेश जाने की इजाजत नहीं मिलनी चाहिए.' बता दें, फरवरी-मार्च के बीच यूके, स्पेन, जर्मनी और फ्रांस जाने के लिए कार्ति की याचिका पर ईडी ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल किया है.

कार्ति चिदंबरम की अपील पर सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इनकार, CJI बोले- लोग विदेश तो आते-जाते रहते हैं

टिप्पणियां

VIDEO- मेरे लिए अलग इंतजाम किया जाए, मैं पूर्व गृह मंत्री का बेटा हूं : कार्ति चिंदबरम

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement