NDTV Khabar

सुषमा स्वराज ने फिर दिखाई दरियादिली, पाकिस्तानी बच्ची को इलाज के लिए दिया मेडिकल वीजा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर दरियादिली दिखाई है. उन्होंने 7 साल की पाकिस्तानी बच्ची महा शोएब के दिल के ऑपरेशन के लिए भारत आने का वीजा मंजूर कर लिया.

882 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुषमा स्वराज ने फिर दिखाई दरियादिली, पाकिस्तानी बच्ची को इलाज के लिए दिया मेडिकल वीजा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सुषमा ने 7 साल की पाकिस्तानी बच्ची को दिया मेडिकल वीजा
  2. महा शोएब की मां ने सुषमा स्वराज से मांगी थी मदद
  3. महा शोएब का नोएडा के एक अस्पताल में होना है इलाज
नई दिल्ली: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर दरियादिली दिखाई है. उन्होंने 7 साल की पाकिस्तानी बच्ची महा शोएब के दिल के ऑपरेशन के लिए भारत आने का वीजा मंजूर कर लिया. टि्वटर पर बच्ची की मां की ओर से किए गए अनुरोध का जवाब देते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को ट्वीट किया, 'हां, हम भारत में आपकी 7 वर्षीय बेटी की 'ओपन हार्ट सर्जरी' के लिए वीजा दे रहे हैं. हम उसके जल्दी स्वस्थ होने की प्रार्थना भी करते हैं. यह भी पढ़ें : एक पाकिस्तानी महिला ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से कहा शुक्रिया...

गौरतलब है कि सुषमा संयुक्त राष्ट्र महासभा की वार्षिक बैठक में भाग लेने के लिए पिछले करीब एक सप्ताह से न्यूयॉर्क में थीं. बच्ची की मां निदा शोएब ने पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर अपनी बच्ची को जल्दी मेडिकल वीजा देने की मांग की थी, ताकि उसका इलाज किया जा सके. निदा पिछले कई दिनों से दोनों को ट्वीट कर रही हैं.

यह भी पढ़ें : सुषमा स्‍वराज ने की मदद, पाक महिला ने कहा-'काश आप हमारी PM होतीं'
 
VIDEO: सुषमा स्वराज ने सुनी पाकिस्तानी नागरिक की फरियाद
निदा ने मदद का किया था अनुरोध
निदा ने नोएडा के एक अस्पताल के डॉक्टर की चिट्ठी के साथ ही ट्वीट में अनुरोध किया था, 'माननीय @सुषमास्वराज मैम. मेरी बेटी को ओपन हार्ट सर्जरी की जरूरत है. मैंने अगस्त में आवेदन किया था, लेकिन अभी भी वीजा प्रक्रिया में है. कृपया मदद करें. मैं आपकी बहुत आभारी रहूंगी. बच्ची की मां निदा के अनुसार, महा का स्वास्थ्य बहुत खराब है और वह स्कूल जाने जैसे सामान्य काम भी नहीं कर पा रही है. जब डॉक्टर शर्मा से मरीज महा के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि एक बार मरीज को अस्पताल आने दें, उसके बाद ही हम आगे कुछ बताने की स्थिति में होंगे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement