NDTV Khabar

IAF Air Strike :भारत के साथ खड़े हुए अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस, UN में जैश और सरगना मसूद अज़हर को लेकर दिया बड़ा प्रस्ताव

पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेने वाले जैश-ए-मोहम्मद पर कार्रवाई को लेकर दुनिया के बड़े देश आगे आए हैं. इनमें संयुक्त राज्य अमेरिका(United States),ब्रिटेन(Britain) और फ्रांस( France ने बुधवार को प्रस्ताव दिया कि इस आतंकी संगठन को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद ब्लैक लिस्ट करे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IAF Air Strike :भारत के साथ खड़े हुए अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस, UN में जैश और सरगना मसूद अज़हर को लेकर दिया बड़ा प्रस्ताव

Air Strike : जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर (Masood-Azhar) की फाइल फोटो.

खास बातें

  1. पुलवामा में हमले के बाद भारत के साथ खड़े हुए अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस
  2. संयुक्त राष्ट्र से की मांग- आतंकी संगठन जैश पर लगाया जाए प्रतिबंध
  3. जैश चीफ मसूद अजहर की संपत्तियों को जब्त करने की मांग
नई दिल्ली:

पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack) की जिम्मेदारी लेने वाले जैश-ए-मोहम्मद पर भारतीय एयर फोर्स (Indian Air Force) कार्रवाई को लेकर दुनिया के बड़े देश आगे आए हैं. इनमें संयुक्त राज्य अमेरिका (United States), ब्रिटेन (Britain)  और फ्रांस ने बुधवार को प्रस्ताव दिया कि इस आतंकी संगठन को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद ब्लैक लिस्ट करे. इसी आतंकी संगठन ने पुलवामा में भारतीय अर्धसैनिक बल के काफिले पर हमला करने का दावा किया था. अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति से मौलाना मसूद अजहर पर हर तरह के प्रतिबंध लगाने की मांग की है. इस प्रस्ताव में कहा है कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर हथियारों के व्यापार और वैश्विक यात्रा से जुड़े प्रतिबंध लगाने के साथ उसकी परिसंपत्ति भी फ्रीज की जाएं. 

यह भी पढ़ें- पुलवामा हमले को लेकर NIA का बड़ा खुलासा, आतंकी ने इस गाड़ी से दिया था वारदात को अंजाम


बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आत्‍मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. हमले की जिम्‍मेदारी पाकिस्‍तान स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने ली थी. भारत ने इसके अगले दिन ही सेना को खुली छूट देने की बात कही थी और पाकिस्‍तान से 'मोस्‍ट फेवरेट नेशन' दर्जा वापस ले लिया था. इसके बाद घाटी में हुए सर्च ऑपरेशन में जैश के कई आतंकवादी मारे गए थें. 26 फरवरी की रात में वायु सेना (Indian Air Force) ने अपने असैन्‍य कार्रवाई में पाकिस्‍तान के बालाकोट स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के कैंप को ध्‍वस्‍त कर दिया था. भारत के इस कार्रवाई का पूरी दुनिया ने समर्थन किया.

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर में तनाव के बीच प्रशासन ने पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति सीमित करने का आदेश दिया

उधर भारत की सर्जिकल स्ट्राइक 2 के बाद यहां सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश कर रहे पाकिस्तानी जेट विमान को भारतीय वायुसेना के मार गिराए जाने (IAF Air Strike) के बाद एक भारतीय पायलट लापता हो गया. यह जानकारी बुधवार को भारत सरकार ने पाकिस्तान के उन दावों के बाद दी, जिनमें उसने 'अपने वायुक्षेत्र में रहकर नियंत्रण रेखा के पार हमले करने' की बात कही थी. बालाकोट में आतंकवादी अड्डे को भारतीय वायुसेना द्वारा निशाना बनाए जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव इस वक्त चरम पर नज़र आ रहा है.लगभग उसी समय पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने भी भारत से बातचीत की बात कही.

यह भी पढ़ें- पुलवामा हमले के बाद पाक सरकार ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुख्यालय को अपने नियंत्रण में लिया

उन्होंने कहा कि हम पुलवामा पर बात करने के लिए तैयार हैं, और हमने पहले भी कहा था और अब भी कह रहे हैं कि आप हमें सबूत दें, हम उन पर कार्रवाई करेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे लिए भी यह सही नहीं कि हमारी जमीन का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए हो. उन्होंने कहा कि जंग हुई तो यह किसी के काबू में नहीं रहेगी.इसी बीच, भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने भी मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पाकस्तान की हमले की कोशिश को सफलतापूर्वक नाकाम किया गया और हमने उनके एक फाइटर विमान को मार गिराया. हालांकि, इस एक्शन के दौरान हमें एक मिग-21 विमान का नुकसान हुआ, और एक पायलट भी लापता है.

टिप्पणियां

वीडियो- TOP News@8AM : पुलवामा हमले में NIA का नया खुलासा, हमले में मारुति इको कार का इस्तेमाल



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement