NDTV Khabar

TOP 5 NEWS: नागपुर पहुंचे नितिन गडकरी, राम मंदिर पर फैसले को लेकर राज्यों को चौकन्ना किया गया

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच चल रही तनातनी के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर आनन-फानन में नागपुर पहुंचे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
TOP 5 NEWS: नागपुर पहुंचे नितिन गडकरी, राम मंदिर पर फैसले को लेकर राज्यों को चौकन्ना किया गया

नितिन गडकरी

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच चल रही तनातनी के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर आनन-फानन में नागपुर पहुंचे हैं. इसके अलावा दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में शनिवार को जब वकील और पुलिसकर्मियों के बीच हिंसा हुई, उस दिन वकीलों में वहां वर्दी में मौजूद महिला पुलिस अधिकारी के साथ भी कथित तौर पर मारपीट की. इसी के साथ उसी दिन से उनकी लोडेड बंदूक भी लापता है. इसके अलावा पाक विदेश मंत्रालय की ओर से बयान आया है कि भारतीय तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट साथ लाने की ज़रूरत नहीं है. भारत की तरफ से एडवांस लिस्ट शेयर करने की भी जरुरत नहीं है. इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के मद्देनजर सभी राज्यों से चौकन्ना रहने के लिए कहा है. इसके अलावा शिवसेना नेता संजय राउत ने शेर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'तुम्हारे पांव के नीचे कोई ज़मीन नहीं, कमाल है कि फ़िर भी तुम्हें यक़ीन नहीं.'

RSS प्रमुख से मिलने पहुंचे नितिन गडकरी बोले- शिवसेना से बात हो रही है, फडणवीस को ही बनना चाहिए CM

5615qg0s

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच चल रही तनातनी के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर आनन-फानन में नागपुर पहुंचे हैं. नागपुर पहुंचने के बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जल्द ही फैसला हो जाएगा. भाजपा ने नेता देवेंद्र फडनवीस को चुना है, तो ऐसे में उनके नेतृत्व में ही सरकार बननी चाहिए. 

CCTV फुटेज में आग लगाते दिखे वकील, महिला IPS के साथ भी की मारपीट, चार दिन से गायब है अधिकारी की लोडेड सर्विस पिस्टल

4ktt540o

दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में शनिवार को जब वकील और पुलिसकर्मियों के बीच हिंसा हुई, उस दिन वकीलों में वहां वर्दी में मौजूद महिला पुलिस अधिकारी के साथ भी कथित तौर पर मारपीट की. इसी के साथ उसी दिन से उनकी लोडेड बंदूक भी लापता है. एनडीटीवी के पास मौजूद एक सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि वकीलों की भीड़ से बचने के लिए पुलिसवालों ने खुद को जिस कमरे में बंद कर रखा है, उसके बाहर वकील वाहनों को आग लगाने की कोशिश कर रहे हैं. 

Kartarpur Sahib पर पाक विदेश मंत्रालय का बयान, कहा - भारतीय तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट लाने की जरुरत नहीं

p0khmrq8

पाक विदेश मंत्रालय की ओर से बयान आया है कि भारतीय तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट साथ लाने की ज़रूरत नहीं. भारत की तरफ से एडवांस लिस्ट शेयर करने की भी जरुरत नहीं. इसके साथ ही 9 नवंबर और 12 नवंबर को जो अतिरिक्त लोग आएंगे उनसे 20 डॉलर की फीस नहीं ली जाएगी.

राम जन्मभूमि मामला: गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को चौकन्ना रहने के लिए कहा

puodp7o8

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के मद्देनजर सभी राज्यों से चौकन्ना रहने के लिए कहा है. एक अधिकारी के हवाले से यह जानकारी मिली है. बता दें कि इससे पहले जानकारी मिली थी कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर फैसला आने से पहले फैजाबाद पुलिस ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक सामग्री पर नजर रखने के लिए 16 हजार स्वयंसेवियों को तैनात किया है. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी थी. 

'तुम्हारे पैरों के नीचे ज़मीन नहीं...', शिवसेना नेता संजय राउत के नए ट्वीट के क्या हैं मायने? 

tnogp52
टिप्पणियां

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच तनातनी जारी है. संजय राउत ने बृहस्पतिवार की सुबह दुष्यंत कुमार का शेर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'तुम्हारे पांव के नीचे कोई ज़मीन नहीं, कमाल है कि फ़िर भी तुम्हें यक़ीन नहीं.' महाराष्ट्र में जारी सत्ता संघर्ष के बीच राउत के इस ट्वीट के कई मायने निकाले जा रहे हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement