NDTV Khabar

त्रिपुरा: तृणमूल कांग्रेस 6 विधायकों ने थामा भाजपा का दामन, राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के पक्ष में किया था मतदान

तृणमूल कांग्रेस से बर्खास्त किए गए त्रिपुरा के छह विधायक सोमवार को औपचारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए. इन लोगों ने 17 जुलाई के राष्ट्रपति चुनाव में राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट दिया था.

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
त्रिपुरा: तृणमूल कांग्रेस 6 विधायकों ने थामा भाजपा का दामन, राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के पक्ष में किया था मतदान

विधायकों को बीजेपी में लाने के लिए संयोजक हिमंत विश्व शर्मा ने भूमिका तैयार की थी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 2016 में कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे ये विधायक
  2. शनिवार को इन विधायकों ने दिल्ली में अमित शाह से की मुलाकात
  3. राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद के पक्ष में किया था मतदान
अगरतला: तृणमूल कांग्रेस से बर्खास्त किए गए त्रिपुरा के छह विधायक सोमवार को औपचारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए. इन लोगों ने 17 जुलाई के राष्ट्रपति चुनाव में राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट दिया था.
 
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, भाजपा के उत्तर पूर्व डेमोक्रेटिक एलायंस (एनईडीए) संयोजक हिमंत बिश्व शर्मा, प्रदेश भाजपा प्रमुख बिप्लब कुमार देब और प्रदेश पार्टी पर्यवेक्षक सुनिल देवधर ने इन छह विधायकों का स्वागत किया, जिनका नेतृत्व त्रिपुरा विधानसभा में विपक्ष (कांग्रेस) के पूर्व नेता सुदीप रॉय बर्मन कर रहे थे.

यह भी पढ़ें:  त्रिपुरा के तृणमूल विधायकों ने लिया रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का फैसला

सुदीप के अलावा अन्य विधायकों में आशीष कुमार साहा, दीबा चंद्र ह्रंगखॉल, बिश्व बंधु सेन, प्राणजीत सिंह रॉय और दिलीप सरकार शामिल हैं. इन विधायकों ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से पांच अगस्त को दिल्ली में मुलाकात की थी. तृणमूल कांग्रेस महासचिव पार्था चटर्जी ने तीन जुलाई को कहा था कि पार्टी इन छह विधायकों से कोई संबंध नहीं रखेगी.

यह भी पढ़ें: अगले साल त्रिपुरा में वाम मोर्चा को सत्ता से बाहर कर देगी बीजेपी : राम माधव

पश्चिम बंगाल में 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में वाम मोर्चा के साथ गठबंधन के विरोध में इन विधायकों ने कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया था. तृणमूल के महासचिव और पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्था चटर्जी ने तीन जुलाई को कोलकाता में कहा था कि त्रिपुरा के छह विधायकों से पार्टी का कोई संबंध नहीं है. 

VIDEO: एक के बाद एक नेता छोड़ रहे हैं कांग्रेस, पार्टी बता रही 'समय का फेर' सुदीप रॉय बर्मन के नेतृत्व में इन विधायकों और कांग्रेस के बागी विधायक रतनलाल नाथ ने 17 जुलाई को हुए राष्ट्रपति चुनाव में राजग के उम्मीदवार रामानाथ कोविंद के पक्ष में मतदान किया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement