NDTV Khabar

अमित शाह के लंच में जाते हुए वेंकैया नायडू ने कहा था, 'संडे मतलब बिरयानी डे'

अमित शाह के लंच में जाते वक्त वेंकैया नायडू ने कहा था, 'संडे मतलब बिरयानी डे'. इतना ही नहीं, वेंकैया नायडू कई मौकों पर स्वीकारते रहे हैं कि वे नॉनवेज खाते हैं और उन्हें यह पसंद भी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमित शाह के लंच में जाते हुए वेंकैया नायडू ने कहा था, 'संडे मतलब बिरयानी डे'

वेंकैया नायडू.

खास बातें

  1. वेंकैया नायडू को पसंद है नॉनवेज खाना
  2. बीफ के सवाल पर बीजेपी का बचाव करने उतरे थे नायडू
  3. वेंकैया नायडू ने बीजेपी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं
नई दिल्ली: एनडीए की ओर से प्रस्तावित उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेंकैया नायडू की पहचान एक ऐसे नेता के रूप में है, जिन्होंने कई मौकों पर बीजेपी को मुश्किल घड़ी से निकाला है. केंद्र में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सरकार बने हुए एक साल ही हुए थे, देश की राजधानी दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा के बिसहड़ा गांव में गौ मांस पकाने के संदेह पर अखलाक नामक शख्स की कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी. इस घटना के बाद देश-दुनिया से आवाज उठने लगी थी केंद्र की मोदी सरकार लोगों के खानपान के साथ छेड़छाड़ करना चाहती है.

ऐसे मौके पर वेंकैया नायडू सामने आए और कहा था, 'कुछ लोग ऐसी बातें करते रहते हैं कि बीजेपी सभी को शाकाहारी बनाना चाहती है. यह लोगों की पसंद है कि वह क्या खाना चाहते हैं और क्या नहीं.' देश भर में जब ये बातें चल ही रहीं थी उसी दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपनी पार्टी और सरकार के नेताओं के लिए लंच का आयोजन किया था. इस लंच में जाने के दौरान पत्रकारों ने वेंकैया नायडू से सवाल पूछा तो उनका जवाब था, 'संडे मतलब बिरयानी डे'. इतना ही नहीं, वेंकैया नायडू कई मौकों पर स्वीकारते रहे हैं कि वे नॉनवेज खाते हैं और उन्हें यह पसंद भी है.

ये भी पढ़ें: कुछ ऐसा रहा नायडू का सफर, 10 खास बातें

'उषा-पति' बनकर ही खुश हूं...'

काफी समय से पहले ही कुछ समाचारपत्रों और टीवी चैनलों में वेंकैया नायडू को राष्ट्रपति तथा उपराष्ट्रपति पद के लिए संभावित दावेदार बताया जाता रहा था. 30 मई को पत्रकारों ने जब इस संदर्भ में उनसे सवाल किया था तो उन्होंने चिर-परिचित शैली में जवाब देते हुए कहा था, "न मैं राष्ट्रपति बनना चाहता हूं, न उपराष्ट्रपति... मैं सिर्फ 'उषा-पति' बनकर खुश हूं..."

ये भी पढ़ें: कौन लेगा मोदी कैबिनेट में वेंकैया नायडू की जगह जानें?

मालूम हो कि देश के उपराष्ट्रपति पद के लिए केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी ने केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू को प्रत्याशी बनाया है. सोमवार को पार्टी की शीर्ष संस्था संसदीय बोर्ड की बैठक में उनके नाम पर मुहर लगाई गई. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बकायदा एक प्रेस कांफ्रेंस करके उनके नाम का ऐलान किया.  

ये भी पढ़ें: वेंकैया नायडू उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जानें के पीछे की वजह जानें

वेंकैया नायडू अभी शहरी विकास और सूचना प्रसारण मंत्री हैं. बीजेपी के दो बार अध्यक्ष रह चुके हैं. वाजपेयी सरकार में भी मंत्री रहे हैं. दक्षिण भारत से हैं यही बात उनके पक्ष में सबसे ज्यादा गई. पार्टी के भीतरी सूत्रों का कहना है कि वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद का दावेदार बनाए जाने से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों में पार्टी की पैठ बढ़ेगी. 

वीडियो में देखें, वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार घोषित करते हुए क्या बोले अमित शाह


पार्टी के वरिष्ठतम नेताओं में से एक हैं. अन्य पार्टी के नेताओं से अच्छे रिश्ते हैं. सदन चलाने की क्षमता है. मोदी सरकार के संकटमोचक की छवि है. संसदीय कार्यमंत्री रहने के नाते संसदीय नियमों की जानकारी है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement