दिल्ली में हिंसा और इधर- दीवान शरीफ मुल्ला मठ के महंत बने, नामकरण हुआ 'शरीफ शिवयोगी'

कर्नाटक में मुस्लिम युवक दीवान शरीफ मुल्ला ने लिंगायत धर्म अपनाया, लिंगायत मठ प्रमुख के तौर पर ताजपोशी की गई

दिल्ली में हिंसा और इधर- दीवान शरीफ मुल्ला मठ के महंत बने, नामकरण हुआ 'शरीफ शिवयोगी'

दीवान शरीफ मुल्ला लिंगायत मठ के प्रमुख बन गए हैं और उनका नामकरण 'शरीफ शिवयोगी' किया गया है.

खास बातें

  • पदभार सम्हालते ही शरीफ शिवयोगी ने मठ में सामूहिक विवाह करवाया
  • दीवान शरीफ मुल्ला के माता-पिता ने मठ के लिए दो एकड़ जमीन दान की
  • कर्नाटक में गदक जिले के लिंगायत संत दीवान शरीफ मुल्ला की चर्चा
बेंगलुरु:

जब दिल्ली साम्प्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रही थी तो वहां से दूर दक्षिण के कर्नाटक के एक गांव मे धार्मिक प्रेम की अलग ही बुनियाद रखी जा रही थी. दीवान शरीफ मुल्ला लिंगायत धर्म अपनाकर एक लिंगायत मठ के प्रमुख बने और इसके साथ ही अब वे 'शरीफ शिवयोगी' के नाम से जाने जाएंगे. उत्तर कर्नाटक के गदक के कोरनेश्वरा शांति धाम मठ के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण था जब 33 साल के दीवान शरीफ मुल्ला को मठ की कार्याधिकारी नीला लोचिनी ने महंत बनाया. यानी वे अब इस मठ के प्रमुख हैं. इसके साथ ही दीवान शरीफ मुल्ला अब महंत शरीफ शिवयोगी के नाम से जाने जाएंगे.

कोरनेश्वरा शांति धाम मठ के महंत शरीफ शिवयोगी ने कहा कि इस कार्यक्रम में मुझे अधिकार दिया गया है और इस मठ का प्रभारी बनाया गया है. मेरे साथ इस कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों को इष्ट लिंग देकर बसवण्णा और धर्म के आचार-विचार और विधि विधान के बारे में समझाया गया है. मुझे सबसे अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है.

मठ के नए महंत के आने पर सामूहिक भोज आयोजित किया गया. शरीफ शिवयोगी ने पिछले साल लिंग धारण करते हुए संत की दीक्षा ले ली थी. लिंगायत धर्म के संस्थापक बसवण्णा के सिद्धांतों की शरीफ की समझ ने लिंगायत धर्म गरुण को भी उस वक्त आश्चर्य में डाल दिया था.

मुस्लिम युवक दीवान शरीफ मुल्ला बने लिंगायत संत! मठ प्रमुख के तौर पर होगी ताजपोशी

महंत शरीफ शिवयोगी के गुरु मुरुगेन्द्र स्वामी ने कहा कि बसव तत्वों के सिद्धांतों के अनुसार आज शरीफ शिवयोगी को पद और अधिकार दे दिए गए हैं. मुझे उम्मीद है कि यह मठ बसव तत्व और विचारों का प्रभावशाली केंद्र बनेगा. यहां पर सभी का स्वागत है. आज उन्हें अधिकार मिल गया है, अब भविष्य का सारा काम वे ही देखेंगे.

जब लिंगायत धर्मगुरु पर भड़क गए येदियुरप्पा, 'आपकी मांगों के हिसाब से काम नहीं कर सकता...'

मठ प्रमुख का पदभार सम्हालते ही महंत शरीफ शिवयोगी ने मठ परिसर में सामूहिक विवाह करवाया. उनके परिवार ने इस मठ को दो एकड़ जमीन भी दान में दी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : दीवान शरीफ मुल्ला लिंगायत मठ के महंत बने