पुलवामा हमले के जवाब को लेकर भारत सरकार ने पाकिस्तान को चेताया, कहा- समय और जगह हम तय करेंगे

वी के सिंह ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय रूप से अलग थलग पड़ गया है. 40 से अधिक देशों ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़े बयान जारी किए हैं.

पुलवामा हमले के जवाब को लेकर भारत सरकार ने पाकिस्तान को चेताया, कहा- समय और जगह हम तय करेंगे

पुलवामा हमले पर वीके सिंह ने पाकिस्तान को चेताया

खास बातें

  • पाकिस्तान का देंगे करारा जवाब- वीके सिंह
  • वीके सिंह ने कहा अंतरराष्ट्रीय समुदाय में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान
  • पुलवामा हमले को लेकर देश में है गुस्सा- वीके सिंह
नई दिल्ली:

पुलवामा हमले को लेकर भारत सरकार ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है. विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने शिमला में कहा कि इस हमले का जवाब कब और कैसे दिया जाए यह हम तय करेंगे. उन्होंने कहा कि जवाबी कार्रवाई का समय और जगह भारत सरकार तय करेगी. वी के सिंह ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय रूप से अलग थलग पड़ गया है. 40 से अधिक देशों ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़े बयान जारी किए हैं. यह हमारी विदेश और कूटनीतिक नीति की बड़ी सफलता है क्योंकि मुंबई में हुए 26/11 हमले के बाद भारत को समर्थन देने वाले देशों की संख्या की तुलना में अभी समर्थन करने वाले देशों की संख्या अधिक है.

...जब आर्मी अफसर के थप्पड़ से औंधे मुंह गिर पड़ा था जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मौलाना मसूद अजहर

सिंह ने कहा कि भारत सीआरपीएफ के काफिले पर हाल ही में हुए आतंकी हमले का जवाब देने के लिए समय और जगह का चयन करेगा क्योंकि इसे पूरी तरह योजनाबद्ध और सोचा समझा होना चाहिये. उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल किस तरह की योजना बना रहे हैं वह उनके संज्ञान में तो नहीं है पर सफलता पाने के लिए कोई युद्ध, युद्ध जैसी या दंडात्मक कार्रवाई की योजना निश्चित ही होनी चाहिये. यह पूरी तरह ठंडे दिमाग से बने और साथ ही जल्दबाजी से बचना होगा. सिंह ने कहा कि यहां तक कि ओसामा बिन लादेन को भी एक दिन में ही नहीं मार दिया गया जबकि अमेरिका जानता था कि वह पाकिस्तान में छिपा है. हमें भी ‘देखो और इंतजार करो'की नीति पर काम करना होगा.

बिना सुरक्षा चूक के ऐसा अटैक नहीं हो सकता, किसी एक का काम नहीं

सुरक्षा बलों को समर्थन देना होगा. इस हमले को लेकर खुफिया एजेंसियों की विफलता के आरोप और कुछ लोगों की अंदरूनी मिलीभगत पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पूरे मामले का विश्लेषण किया जा रहा है और उसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए सभी राजनीतिक दलों के समर्थन की आवशयकता है. इससे पहले सिंह ने भाजपा के ‘‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ'' अभियान की हिमाचल प्रदेश में शुरूआत की. अभियान के तहत पार्टी राज्य की सभी 68 विधानसभा सीटों पर लोगों की अपेक्षाएं व सुझाव जानेगी. भाजपा के एक नेता ने बताया कि इनमें से कुछ सुझावों को पार्टी के घोषणापत्र में शामिल किया जाएगा. (इनपुट भाषा से) 

VIDEO: एक मेजर सहित चार जवान शहीद

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com