NDTV Khabar

रॉबर्ट वाड्रा के मामले पर राहुल गांधी ने तोड़ी चुप्पी, जानें पत्रकार के सवाल पर क्या कहा

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय के जांच का सामना कर रहे रॉबर्ट वाड्रा पर शुक्रवार को राहुल गांधी की पहली प्रतिक्रिया आई है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रॉबर्ट वाड्रा के मामले पर राहुल गांधी ने तोड़ी चुप्पी, जानें पत्रकार के सवाल पर क्या कहा

राहुल गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय के जांच का सामना कर रहे रॉबर्ट वाड्रा पर शुक्रवार को राहुल गांधी की पहली प्रतिक्रिया आई है. राफेल मामले पर द हिंदू की रिपोर्ट का हवाला देकर मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने हमला बोला और एक बार फिर से दोहराया कि राफेल मामले में प्रधानमंत्री ने चोरी की है. शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देने के क्रम में जब राहुल गांधी से यह पूछा गया कि रॉबर्ट वाड्रा पर आपका क्या स्टैंड तो इस पर राहुल गांधी ने जवाब दिया कि मोदी सरकार को अगर उनकी जांच करनी है तो करे, मगर उन्हें राफेल के मामले पर भी जवाब देना चाहिए. 

राफेल डील में PMO के दखल पर रक्षा मंत्रालय ने जताई थी कड़ी आपत्ति : रिपोर्ट


राहुल गांधी ने पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे पी चिंदबरम और रॉबर्ट वाड्रा को लेकर राहुल ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा और पी चिदंबरम समेत हर किसी के खिलाफ कानून का इस्तेमाल करिए, जांच कीजिए, मगर सरकार को राफेल पर सवालों के जवाब देने ही होंगे. कानून को अपनी प्रक्रिया पूरी करने दीजिए. 

आखिर क्यों कांग्रेस की अपनी पहली मीटिंग में भाई राहुल से दूर बैठी नजर आईं प्रियंका गांधी?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा और चिदंबरम पर मोदी सरकार केस चलाए, हम हर जांच के लिए तैयार हैं लेकिन सरकार राफेल पर अपना जवाब देश के सामने रखे. राहुल ने कहा कि हम किसी भी जांच से नहीं डरते लेकिन सरकार राफेल की जांच से इतनी डरी हुई है कि वह इस पर कोई जवाब देने को तैयार नहीं है.

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर ताजा हमला: आप रॉबर्ट वाड्रा, चिदंबरम की जांच कीजिए, मगर राफेल पर भी जवाब दीजिए

राहुल ने गांधी ने अंग्रेजी के प्रतिष्ठित अखबार ‘द हिंदू' की एक खबर की पृष्ठभूमि में यह भी आरोप लगाया कि इस विमान सौदे को लेकर मोदी ने फ्रांस के साथ समानांतर बातचीत कर रक्षा मंत्रालय के पक्ष को कमजोर किया और पूरी प्रक्रिया को दरकिनार करते हुए अपने ‘मित्र' अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का कांट्रैक्ट दिलवाया. उन्होंने कहा, ‘‘ हम यह एक साल से कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री राफेल घोटाले में सीधे तौर पर शामिल हैं. अखबार की रिपोर्ट से साफ है कि प्रधानमंत्री फ्रांस के साथ समानांतर बातचीत कर रहे थे. मैं देश के युवाओं और रक्षा बलों से कहना चाहता हूं कि अब स्पष्ट हो चुका है कि प्रधानमंत्री ने प्रक्रिया को दरकिनार करते हुए आपके 30 हजार करोड़ रुपये चुराए और अपने मित्र अनिल अंबानी को दे दिए. इसकी जांच होनी चाहिए.' 

टिप्पणियां

VIDEO : रॉबर्ट वाड्रा से घंटों चली पूछताछ



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement